जागरण संवाददाता, देहरादून : जिलों से यू-डायस से संबंधित आंकड़ों को शिक्षा विभाग के पोर्टल पर अपलोड करने की समय सीमा 31 मई तक निर्धारित है, लेकिन शनिवार तक केवल 78 प्रतिशत विद्यालयों के आंकड़े ही अपलोड हुए हैं। इस पर समग्र शिक्षा के राज्य परियोजना निदेशक बंशीधर तिवारी ने समस्त जिला शिक्षा अधिकारियों को दो दिन का अल्टीमेटम दिया है। उन्होंने कहा कि हर हाल में 31 मई तक शतप्रतिशत स्कूलों के आंकड़े यू-डायस में उपलब्ध हो जाने चाहिए।

शनिवार को समग्र शिक्षा के ननूरखेड़ा स्थित राज्य परियोजना सभागार में बैठक आयोजित की गई, जिसकी अध्यक्षता राज्य परियोजना निदेशक बंशीधर तिवारी ने की। बैठक में निदेशक माध्यमिक शिक्षा आरके कुंवर एवं अपर राज्य परियोजना निदेशक डा. मुकुल कुमार सती की उपस्थिति में विद्यालयी शिक्षा विभाग व समग्र शिक्षा से संबंधित बिंदुओं पर समीक्षा की गई। इस दौरान जिला परियोजना अधिकारियों के साथ वर्चुअल माध्यम से संवाद स्थापित किया गया।

बताया कि विद्यांजलि योजना में स्कूलों ने पंजीकरण तो कराया है, लेकिन भौतिक संसाधनों के लिए मांग अपलोड नहीं की है। परियोजना निदेशक ने निर्देश दिए कि तत्काल विद्यालय अपनी आवश्यकता को अपलोड करें। निदेशक माध्यमिक आरके कुंवर ने कहा कि 31 मई तक पुस्तकों का वितरण सभी जनपद शत-प्रतिशत सुनिश्चित कर लें। यदि कहीं किताबों की अतिरिक्त जरूरत है तो तत्काल डिमांड भेजें।

यह भी पढ़ें- Mann Ki Baat में प्रधानमंत्री मोदी ने किया चारधाम यात्रा जिक्र, कहा- केदारनाथ में गंदगी देखकर दुखी हूं

विद्यालय शिक्षा से वंचित बच्चों के संदर्भ में अपर राज्य परियोजना निदेशक डा. मुकुल कुमार सती ने निर्देश दिए कि सभी जनपद तत्काल 2020-21 के बच्चों का विवरण विभाग की साइट पर अपलोड करें। बैठक में उपनिदेशक कमला बड़वाल, एमएस बिष्ट, हेमलता भट्ट, मंजू भारती, संयुक्त राज्य परियोजना निदेशक अत्रेश सयाना आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- रुड़की : तेज रफ्तार कार ने हरिद्वार हाईवे पर ट्राली में मारी टक्कर, बच्चे समेत दो की मौत, आठ घायल

Edited By: Sumit Kumar