जागरण संवाददाता, देहरादून : UKSSSC Paper Leak Case उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूकेएसएसएससी) के पेपर लीक मामले के मास्टरमाइंड हाकम सिंह रावत के साथ डीजीपी अशोक कुमार व कुछ नेताओं के फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।

डीजीपी ने जारी कि‍या बयान

इसको लेकर डीजीपी (DGP) की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि किसी राजनेता या अधिकारी के साथ फोटो खिंचाने का मतलब यह नहीं कि अपराधी कानून के फंदे से बच निकलेगा।

सरकार पर भी हो रहे हैं व्यंग्य बाण

पुलिस की नजर में ऐसे अपराधियों के लिए एक ही जगह है जेल। पेपर लीक (UKSSSC Paper Leak Case) के आरोपित हाकम सिंह की सत्ता प्रतिष्ठान में अफसरों और नेताओं के बीच गहरी पैठ सार्वजनिक है। इसको लेकर सरकार पर भी व्यंग्य बाण हो रहे हैं।

कई नेताओं के साथ हाकम की फोटो हो रही वायरल

हाकम की गिरफ्तारी के बाद से इंटरनेट मीडिया पर उत्तराखंड के कुछ पूर्व मुख्यमंत्रियों, मंत्रियों, भाजपा नेताओं और आला अधिकारियों के साथ खिंचवाई गई उसकी फोटो वायरल हो रही हैं। इनमें मौजूदा डीजीपी अशोक कुमार ( DGP Ashok Kumar) की फोटो भी शामिल है।

अपराधी कानून की नजर से नहीं बच पाएगा

इस बीच बुधवार को डीजीपी (DGP) ने फेसबुक पर पोस्ट कर उक्त फोटो पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि किसी राजनेता या अधिकारी के साथ फोटो खिंचाने से कोई अपराधी कानून की नजर से बच नहीं पाएगा। न ही उनके साथ खिंचवाया गया फोटो अपराधी को बचा सकता है।

अब तक 18 आरोपितों की हो चुकी है गिरफ्तारी 

उन्होंने कहा कि इस मामले में एसटीएफ (Uttarakhand STF) अब तक 18 आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है। इन अपराधियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस की नजर में उक्त सभी सिर्फ अपराधी हैं, और उनकी जगह सिर्फ जेल है।

UKSSSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में प्रिंटिंग प्रेस के निदेशक से सात घंटे पूछताछ

Edited By: Soban singh