जागरण संवाददाता, देहरादून : Dehradun News : मामूली विवाद में पिटाई से घायल चमोली के युवक की उपचार के दौरान मौत होने के बाद दून के श्रीमहंत इंदिरेश अस्पताल में करीब पांच घंटे तक हंगामा हुआ।

युवक की मौत से गुस्साए स्वजन पिटाई के आरोपित और लक्खीबाग चौकी इंचार्ज पर कार्रवाई की मांग को लेकर अस्पताल के गेट पर धरने पर बैठ गए थे। उनके साथ चमोली विधायक राजेंद्र भंडारी, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा समेत अन्य पदाधिकारी भी थे।

मामला बढ़ा तो भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट भी मौके पर पहुंच गए। जब प्रदर्शनकारियों का आक्रोश नहीं थमा तो पुलिस ने आनन-फानन हमलावर को गिरफ्तार किया। इस बीच प्रकरण मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी तक पहुंच गया।

मामले में लापरवाही बरतने के लिए मुख्यमंत्री ने तत्काल लक्खीबाग चौकी इंचार्ज प्रवीण सैनी को निलंबित करने का आदेश दिया। एसएसपी दलीप सिंह कुंवर के चौकी इंचार्ज को निलंबित करने के बाद लोग शांत हुए। बताया जा रहा है कि आरोपित बदमाश निक्कू का रिश्तेदार है।

एक निजी लैब में टेक्नीशियन था विपिन रावत

पुलिस के अनुसार, मृतक विपिन रावत उर्फ विक्की मूल रूप से चमोली जिले के पैनखंडा ग्राम द्वींग तपोवन का रहने वाला था। वह दून में एक निजी लैब में टेक्नीशियन था। 25 नवंबर की रात वह अपने दोस्त निखिल राणा और दो युवतियों के साथ दून दरबार से खाना खाकर लौट रहा था।

तभी वहां एक कार में दो युवक और दो युवतियां पहुंचीं। किसी बात को लेकर विपिन का कार सवार युवकों से विवाद हो गया। युवकों ने विपिन को पीटना शुरू कर दिया।

इस बीच कार सवार विनीत अरोड़ा निवासी मोहिनी रोड (डालनवाला) ने कार से बेसबाल का बैट निकाला और विपिन के सिर पर दे मारा। इससे विपिन लहूलुहान होकर वहीं गिर पड़ा और आरोपित फरार हो गए। गंभीर हालत में उसे श्रीमहंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां शनिवार सुबह विपिन ने दम तोड़ दिया। विपिन के स्वजन ने यह सूचना गांव में दी।

यह भी पढ़ें : Vanantara Resort Murder : 52 दिन से आंदोलनरत अनशनकारी पहुंचे देहरादून, किया सीएम आवास कूच, गिरफ्तार

इससे गुस्साए ग्रामवासी क्षेत्रीय विधायक राजेंद्र भंडारी और कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा के साथ श्रीमहंत इंदिरेश अस्पताल पहुंचे और आरोपित की गिरफ्तारी व पुलिसकर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करते हुए अस्पताल में स्थित मोर्चरी के गेट पर धरने पर बैठ गए। विधायक ने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि प्रदेश में पुलिस लगातार आरोपितों का साथ दे रही है।

इस बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट भी मौके पर पहुंच गए और आरोपितों को सख्त सजा दिलाने की बात कही। एसपी सिटी सरिता डोबाल, सीओ सिटी बीएल शाह, इंस्पेक्टर पटेलनगर कोतवाली सूर्यभूषण नेगी ने प्रदर्शनकारियों को समझाने का काफी प्रयास किया, मगर वह नहीं माने। सुबह नौ बजे शुरू हुआ धरना-प्रदर्शन मुख्य आरोपित की गिरफ्तारी और लक्खीबाग चौकी इंचार्ज पर कार्रवाई के बाद दोपहर करीब दो बजे समाप्त हुआ।

पुलिस ने नहीं की कार्रवाई, आरोपित ले आया कोर्ट से स्टे

इस मामले में शहर कोतवाली पुलिस ने विपिन के छोटे भाई पंकज रावत की तहरीर पर घटना वाली रात ही आरोपित विनीत अरोड़ा सहित अन्य के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया था। मामले की जांच लक्खीबाग चौकी इंचार्ज प्रवीण सैनी को सौंपी गई थी।

स्वजन आरोपितों को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे, मगर चौकी इंचार्ज लापरवाही करते रहे। इस बीच आरोपित गिरफ्तारी से बचने के लिए कोर्ट से स्टे ले आया, जिस पर सोमवार को सुनवाई होनी है। पुलिस घटना में शामिल विनीत के साथी और कार में मौजूद दोनों युवतियों के बारे में भी जानकारी जुटा रही है।

Edited By: Nirmala Bohra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट