जागरण संवाददाता, देहरादून : दीदी मेरी बेटी को न्याय दिला दीजिए, मुझे और कुछ नहीं चाहिए। देखो क्या हाल कर दिया इसका। कोरोनेशन अस्पताल में भर्ती जीवनगढ़ की महिला का हाल जानने के लिए राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल जैसे ही अस्पताल के कक्ष में पहुंचीं तो पीड़िता प्रीति की मां सरस्वती देवी फफक पड़ीं और उनसे लिपटकर रोने लगीं।

अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने उन्हें आश्वस्त किया कि प्रीति जैसी महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए आयोग उनके साथ हमेशा खड़ा है। टिहरी जनपद के प्रतापनगर स्थित रिंडोल गांव की प्रीति की बीते दिनों विकासनगर के जीवनगढ़ में ससुरालियों ने बुरी तरह पिटाई की। इसके बाद पीड़िता का कोरोनेशन अस्पताल भर्ती कराया गया।

गुरुवार को राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने अस्पताल पहुंचकर प्रीति का हाल जाना और चिकित्सकों को बेहतर उपचार के निर्देश दिए। कंडवाल ने कहा कि उन्हें प्रीति ने बताया कि बीते चार साल से उन्हें ससुराल वाले प्रताड़ित कर रहे थे। उन्होंने प्रीति और उनकी मां सरस्वती देवी को आश्वस्त किया कि इस तरह के जघन्य अपराध करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की पैरवी की जाएगी। इस मामले में बीते मंगलवार को डीआइजी पी रेणुका को निर्देश दिए गए हैं कि आरोपितों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए।

अल्ट्रासाउंड की व्यवस्था में सुधार होगा

दून मेडिकल कालेज अस्पताल में ओपीडी में अल्ट्रासाउंड की व्यवस्था में सुधार को चिकित्सा अधीक्षक डा. यूसुफ रिजवी ने बैठक ली। उन्होंने कहा कि जल्द एक और रेडियोलाजिस्ट मिल जाएंगे। तब तक कैसे व्यवस्था चले, इस पर मंथन कर एक एकाध दिन में फैसला ले लिया जाएगा।

यहां उपलब्ध दोनों रेडियोलाजिस्ट से भी ओपीडी में काम लिया जाएगा। उधर, बैठक में एक चिकित्सक ने मीडिया पर ही पाबंदी की सलाह दे डाली। जिस पर अधिकारियों ने हिदायत देते कहा कि खबरें मीडिया पर पाबंदी से नहीं, अव्यवस्था दूर करने से रुकेंगी। यह जरूरी है कि सब मिलकर इस ओर काम करें। वहीं, इस दौरान पीआरओ सेल को मजबूत करने पर चर्चा की गई। तय किया गया इन्हें अधिकारी एवं कार्यालय दिए जाएंगे।

इस दौरान डिप्टी एमएस डा. एनएस खत्री, सीपीआरओ महेंद्र भंडारी, पीआरओ सुधा कुकरेती आदि मौजूद रहे। वहीं डिप्टी एमएस डा. खत्री एवं डा. डोभाल ने कैंटीन का भी निरीक्षण कर व्यवस्था एवं खाने की गुणवत्ता में सुधार की हिदायत दी।

Edited By: Nirmala Bohra