जागरण संवाददाता, देहरादून। Dehradun Coronavirus Update दून में कोरोना का ग्राफ तेजी से चढ़ रहा है। बड़े-बड़े संस्थानों में एक साथ तमाम लोग संक्रमित मिल रहे हैं। ओएनजीसी परिसर में भी संक्रमण का ऐसा ही प्रसार देखने को मिला है। यहां वर्तमान और पूर्व कार्मिकों और उनके स्वजनों समेत 91 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। चार कार्मिकों को स्वास्थ्य बिगड़ने के चलते कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ओएनजीसी अस्पताल के चिकित्सा सेवा प्रमुख डॉ. पीत वासन के मुताबिक संक्रमित पाए गए व्यक्तियों में 44 वर्तमान कार्मिक हैं। कुछ बच्चों में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। हालांकि, उनका स्वास्थ्य बेहतर है और उनमें किसी तरह के लक्षण नहीं दिख रहे हैं। डॉ. वासन के मुताबिक कुछ कार्मिकों में लक्षण पाए जाने के बाद उनकी कोरोना जांच की गई थी। इसके बाद उनके क्लोज कॉन्टेक्ट (नजदीकी संपर्क में रहे व्यक्तियों) की जांच करने पर अन्य में भी संक्रमण पाया गया। 

डॉ. वासन ने बताया कि बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अस्पताल की सेवाओं में भी बदलाव किया गया है। प्रयास किए जा रहे हैं कि मरीजों को कम से कम अस्पताल आना पड़े, जो व्यक्ति नियमिति रूप से दवा ले रहे हैं, उन्हें घर पर ही दवा पहुंचाई जा रही है। पहले अधिकतम 30 दिन की दवा घर पर पहुंचाई जा सकती थी। अब इसे 60 दिन कर दिया गया है। इसके अलावा अस्पताल के स्टाफ को भी रोटेशन पर बुलाया जा रहा है।  

दून अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक पॉजिटिव

सालभर से अधिक समय से कोरोना से दो-दो हाथ कर रहे स्वास्थ्यकर्मी और फ्रंटलाइन वर्कर दोबारा संक्रमण की चपेट में आने लगे हैं। कोरोनेशन अस्पताल के बाद अब दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में भी ऐसे मामले सामने आने लगे हैं। गुरुवार को अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केसी पंत कोरोना संक्रमित पाए गए। हालांकि, उनका स्वास्थ्य सामान्य है। उन्हें कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज पहले ही लग चुकी हैं। बताया जा रहा है कि चिकित्सा अधीक्षक की पत्नी की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद उन्होंने अपनी भी जांच कराई। वह पूर्व में भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं।

इधर, एसटीएफ के सीओ अंकुश मिश्रा भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। वह भी वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके थे। इसके अलावा कुंभ ड्यूटी में तैनात चार महिला कांस्टेबल में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। इनकी ड्यूटी त्रिवेणी घाट में लगाई गई थी। इन्हें कोविड केयर सेंटर में भर्ती करा दिया गया है। मेला पुलिस प्रशासन के मुताबिक इन्हें कोविड वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी है।

जीआइसी बड़ोवाला के प्रधानाचार्य को कोरोना

शिक्षा विभाग में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। गुरुवार को राजकीय इंटर कॉलेज बड़ोवाला के प्रधानाचार्य में कोरोना की पुष्टि हुई है। उन्होंने कोरोना से मिलते-जुलते लक्षण आने पर जांच करवाई थी। प्रधानाचार्य में कोरोना की पुष्टि होने के बाद अन्य शिक्षक एवं कर्मचारियों ने भी कोरोना की जांच करवाना शुरू कर दिया है। मुख्य शिक्षा अधिकारी आशा रानी पैन्यूली ने पूरे परिसर का सैनिटाइजेशन करने और सभी स्टाफ को कोराना जांच करवाने के निर्देश दिए। 

यह भी पढ़ें- Covid 19 Vaccination: टीकाकरण का फिर टूटा रिकॉर्ड, एक लाख से ज्यादा को लगे टीके

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021