राज्य ब्यूरो, देहरादून

प्रदेश के 105 सरकारी डिग्री कॉलेजों में पढ़ाई और शैक्षिक प्रशासन, नैक ग्रेडिंग और निर्माण कार्यो के लिए दी गई धनराशि के सदुपयोग को लेकर जिलास्तरीय नोडल अधिकारियों को जवाब देना होगा। उच्च शिक्षा प्रमुख सचिव आनंद ब‌र्द्धन 28 जनवरी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए तकरीबन तीन माह पहले नामित नोडल अधिकारियों और कॉलेज प्राचार्यो की क्लास लेंगे।

सरकारी डिग्री कॉलेजों की तमाम व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने और शिक्षा के स्तर को सुधारने की कवायद को अंजाम तक पहुंचाने के लिए जिले में एक प्राचार्य को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। अक्टूबर माह में नामित इन नोडल अधिकारियों को अब अपने कामकाज का हिसाब शासन को देना होगा। कॉलेजों के सामने सबसे बड़ी चुनौती नैक ग्रेडिंग हासिल करना है। इसके बाद ही कॉलेजों को यूजीसी से अनुदान मिलने का रास्ता साफ होगा। नैक में पेश आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए सरकार ने बड़ी संख्या में कॉलेजों के भवनों के निर्माण को धनराशि जारी कर दी है। नोडल अधिकारियों पर निर्माण कार्यो पर नजर रखने को भी कहा गया है। इसीतरह राज्य के 72 डिग्री कॉलेजों को ई-लाइब्रेरी से जोड़ने के लिए ई-ग्रंथालय योजना पर काम किया जा रहा है।

इसके साथ ही कॉलेजों में शिक्षण कार्य सुचारू रखने को राज्य लोक सेवा आयोग से चयनित शिक्षकों को नियुक्ति दी जा रही है। इस पर अपडेट जानकारी शासन ने तलब की है। उच्च शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ धन सिंह रावत ने शासन को नए शैक्षिक सत्र से पहले तमाम व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए थे। नोडल अधिकारियों समेत जिलों के सभी प्राचार्यो को 28 जनवरी को उच्च शिक्षा प्रमुख सचिव के साथ होने वाली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मौजूद रहने के निर्देश दिए गए हैं।

इनसेट:

दो डिग्री कॉलेज भवनों के

निर्माण को 129 लाख दिए

देहरादून: सरकार ने दो सरकारी डिग्री कॉलेजों के भवन निर्माण को 129.34 लाख की धनराशि जारी की गई है। पौड़ी जिले में राजकीय डिग्री कॉलेज नैनीडांडा के लिए 49.34 लाख रुपये और पिथौरागढ़ जिले में राजकीय पीजी कॉलेज नारायणनगर के लिए 79.72 लाख रुपये जारी किए गए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस