देहरादून। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि देहरादून स्थित चीड़ बाग में वार मैमोरियल बनाने को रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने राज्य सरकार को विश्वास में नहीं लिया। उन्होंने कहा कि यदि विश्वास में लिया जाता तो राज्य सरकार भी इसके लिए हर संभव सहयोग करेगी।
चीड़बाग में वार मैमोरियल बनाने का प्रस्ताव छावनी परिषद ने रक्षा मंत्रालय को भेजा है। इस संबंध में मुख्यमंत्री ने रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर को पत्र भेजकर उनका ध्यान आकर्षित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी तक भी राज्य सरकार व जिला प्रशासन को इस संबंध में कोई भी जानकारी नही दी गई है।
कुछ समाचार पत्रों से उन्हें ज्ञात हुआ कि छावनी परिषद देहरादून की ओर से चीड़बाग में वार मैमोरियल बनाने का प्रस्ताव रक्षा मंत्रालय को भेजा है। उन्होंने कहा कि उपरोक्त स्थान पर वार मैमोरियल के लिए पार्किंग सहित अन्य सुविधाएं पर्याप्त नहीं हैं।
उन्होंने कहा कि यदि रक्षा मंत्रालय फिर भी उपरोक्त स्थान को वार मैमोरियल हेतू उचित समझता है तो राज्य सरकार हर प्रकार से उसमें अपना हर संभव सहयोग प्रदान करने को तैयार है। उन्होने कहा कि संबंधित अधिकारियों को इस संबंध में उचित निर्देश दिए जाने चाहिए। इससे वार मैमोरियल को उचित सम्मान के साथ बनाया जा सकेगा।
पढ़ें-अगले सात साल में बदल जाएगी हर उत्तराखंडी की तकदीरः सीएम

Posted By: Bhanu