जागरण संवाददाता, देहरादून। कोरोना संक्रमण के दौरान खुद की जान हथेली पर रख संक्रमितों का जीवन बचाने में दिन-रात जुटे रहे कोरोना योद्धाओं को दैनिक जागरण सम्मानित करेगा। चाहे वह चिकित्सक और अन्य चिकित्सा कर्मी हों, या फिर पुलिस व अग्रिम मोर्चे पर डटे रहे सफाई कर्मी। इनके अलावा आपके-हमारे बीच और भी सैकड़ों जन ऐसे होंगे, जिन्होंने किसी न किसी तरह कोरोना संक्रमितों का जीवन बचाने के लिए अग्रिम मोर्चे पर कार्य किया होगा। पूरा देश ऐसे कोरोना योद्धाओं को नमन कर रहा है। बस खोजना है उन्हें, जिन्हें आप असलियत में कोरोना योद्धा मानते हैं। कोरोना योद्धाओं की दावेदारी को लेकर 'दैनिक जागरण' की ओर से आनलाइन और आफलाइन आवेदन खोल दिए गए हैं।

जो कोरोना योद्धा आनलाइन आवेदन करना चाहते हैं वह http//qrgo.page.link/RuadZ पर आवेदन कर सकते हैं, जबकि आफलाइन आवेदन करने के लिए दैनिक जागरण के पटेलनगर स्थित कार्यालय में पहुंचकर आवेदन जमा करना होगा। इसमें शर्त यह है कि आवेदन सिर्फ 24 जुलाई यानी शनिवार को दैनिक जागरण में प्रकाशित हुए फार्म पर ही स्वीकार किए जाएंगे।

दरअसल, कोरोना काल में संक्रमण के दौर में जब खुद का जीवन बचाना बेहद मुश्किल हो रहा था, तब कईं नागरिक ऐसे रहे, जिन्होंने अजनबियों की मदद के लिए रात-दिन एक कर दिया। अपने जज्बे और काम के बूते समाज में एक अलग पहचान बनाई। ऐसे में हमारा दायित्व बनता है कि हम इन्हें पहचानें और उनका सम्मान करें। दैनिक जागरण अपने सामाजिक सरोकार के तहत ऐसे योद्धाओं को सम्मानित करेगा।

पांच श्रेणी में कर सकते हैं आवेदन

कोरोना योद्धाओं को पांच श्रेणी में सम्मानित किया जाएगा। एक व्यक्ति एक ही श्रेणी में आवेदन कर सकता है। पांच श्रेणी निम्नवत हैं।

नवोन्मेष: तकनीकी या किसी अन्य माध्यम से दिया गया योगदान।

कर्तव्य से बढ़कर: चिकित्सक, चिकित्सक सहयोगी व अग्रिम पंक्ति कार्यकर्त्ता।

कोविड नायक: ग्रामीण विजेता, विस्मृत नायक, एनजीओ, समुदाय व संगठन।

जागरुकता योद्धा: विलक्षण विचार, भ्रामक समाचार बस्टर्स व सबसे प्रतिभाशाली।

संकट प्रबंधन नेतृत्व: संकट के दौर में बेहतर प्रबंधन के साथ नेतृत्व करने वाले।

यह हैं जागरण के सहयोगी

कालिंदी हास्पिटल एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट विकासनगर, दून वन कमर्शियल कांप्लेक्स एंड होटल, हिमगिरी जी यूनिवर्सिटी, हुंडई, रेजीजोन रेजीडेंसी, मैक्स हेल्थ केयर, नवचेतना कालेज, आइटीएम इंस्टीट्यूट, डीजी कालेज व दून डिफेंस एकेडमी।

Edited By: Raksha Panthri