राज्य ब्यूरो, देहरादून

मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने जनगणना से जुड़े सभी विभागों को जनगणना के राष्ट्रीय महत्व के कार्य को सावधानी और समयबद्ध तरीके से पूरा करने के निर्देश दिए।

सचिवालय में शुक्रवार को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में जनगणना-2021 के कार्य के लिए गठित समन्वय समिति की बैठक हुई। बैठक में भारत के महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त विवेक जोशी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शिरकत की। इस मौके पर जनगणना निदेशक उत्तराखंड विम्मी सचदेवा रामन ने जनगणना की विस्तृत कार्ययोजना प्रस्तुत की। उन्होंने बताया कि पहले चरण में मकान सूचीकरण एवं मकानों की गणना व राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर के अद्यतन कार्य के लिए एक मई 2020 से 15 जून 2020 तक समय निर्धारित है। इसमें 30 हजार प्रगणकों व छह हजार सुपरवाइजरों को लगाया जाएगा।

मुख्य सचिव ने जनगणना कार्य के लिए जरूरी कार्मिकों की तैनाती और उनके लिए अप्रैल माह में प्रशिक्षण आयोजित करने को कहा। बताया गया कि जनगणना कार्य के प्रबंधन व निगरानी को सीएमएमएस पोर्टल विकसित किया गया है। बैठक में राजस्व सचिव सुशील कुमार, अपर सचिव पंचायतीराज एचसी सेमवाल, अपर सचिव आइटी विजय कुमार यादव, अर्थ व संख्या निदेशक सुशील कुमार, शिक्षा निदेशक आरके कुंवर मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस