देहरादून, जेएनएन। पंचायत जनाधिकार मंच ने राज्य निर्वाचन आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट से ऊधमसिंह नगर के गदरपुर में मत पेटियों की सुरक्षा एवं मतगणना में पारदर्शिता की मांग की है। साथ ही वहां दूसरे व तीसरे चरण के चुनाव में शराब बांटने की आशंका जताते हुए ठोस कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि न्यायिक मजिस्ट्रेट की निगरानी में वहां मतगणना होनी चाहिए।

मंच ने राज्य निर्वाचन आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट को ज्ञापन सौंप कर कहा कि सात अक्टूबर को राइंका गदरपुर में बने स्ट्रांग रूम के बाहर मतदान केंद्र 59 के जिपं सदस्य के बैलेट पेपर सीलिंग मुहर व अन्य सामान मिला है। इससे सीधे तौर पर मतपेटियों में छेड़छाड़ की आशंका है। 

आरोप लगाया कि पंचायती राज मंत्री अरविंद पांडे के ओएसडी एसपीएस नेगी स्ट्रांग रूम के पास संदिग्ध हालात में घूमते पाए गए। स्ट्रांग रूम के पास सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम जैसे सीसीटीवी कैमरा, बिजली, जनरेटर आदि नहीं है। साजिशन पंचायती राज मंत्री पांडे के ओएसडी एसपीएस नेगी को स्ट्रांग रूम के आसपास बैरिकेडिंग का प्रभारी बनाया गया। 

उन्होंने मतदान के बाद अधिकांश पीठासीन अधिकारियों ने विभिन्न उम्मीदवारों के मतपत्रों का लेखा, प्रारूप क्रमांक 18 परिशिष्ट 09 उपलब्ध नहीं कराने की शिकायत की है। उन्होंने ज्ञापन में स्ट्रांग रूम की वीडियो रिकार्डिंग प्रत्येक प्रत्याशी को देने, न्यायिक मजिस्ट्रेट की निगरानी में मतगणना, मतगणना स्थल पर सीसीटीवी लगाने, मतदान दलों को उपलब्ध कराए मतपत्रों की क्रमांक व संख्या का विवरण मतगणना से पूर्व संबंधित प्रत्याशियों को उपलब्ध कराने की मांग की है। ज्ञापन सौंपने वालों में जोत सिंह बिष्ट, भरत चंद्र रमोला, अश्विन बहुगुणा आदि शामिल थे।

चुनाव ड्यूटी पर जा रही बस का चालक नशे में धुत मिला

पंचायत चुनाव के दूसरे चरण के लिए रवाना हो रही पोलिंग पार्टियों में तब हड़कंप मच गया जब उन्हें पता चला कि जिस बस से वे जा रहे हैं उसका चालक नशे में धुत है। बाद में परिवहन कर अधिकारी ने चालक को पुलिस के हवाले कर दिया। चालक के खिलाफ एमवी एक्ट की संबंधित धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है। 

सहसपुर ब्लॉक क्षेत्र में पंचायत चुनाव मतदान के लिए गुरु राम राय इंटर कॉलेज सहसपुर परिसर से पोङ्क्षलग पार्टियां रवाना हो रही थी। इसी बीच चुनाव ड्यूटी को आई बस का चालक शराब के नशे में प्रतीत हुआ। जिस पर परिवहन कर अधिकारी ने बस चालक रोशन लाल पुत्र रामचंद को एल्कोमीटर से चेक किया तो शराब पीने की पुष्टि हो गई। जिस पर परिवहन कर अधिकारी ने शराब के नशे में धुत चालक को पुलिस को सौंप दिया। 

यह भी पढ़ें: पंचायत चुनावः पांच सेक्टर मजिस्ट्रेट समेत 80 पीठासीन अधिकारी ड्यूटी से लापता

गनीमत ये रही कि बस रवाना नहीं हुई थी वरना कोई बड़ा हादसा हो सकता था। थानाध्यक्ष पीडी भट्ट के अनुसार पुलिस चालक को शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। उधर, परिवहन कर अधिकारी रत्नाकर सिंह ने बताया कि चुनाव ड्यूटी के लिए दूसरी बस की व्यवस्था की गई। परिवहन कर अधिकारी की सख्त कार्रवाई से अन्य वाहन चालकों में हड़कंप की स्थिति बनी रही।

यह भी पढ़ें: उत्तरकाशी के दो गांवों को नहीं मिल पाए ग्राम प्रधान, जानिए वजह 

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप