देहरादून, जेएनएन। कोरोना की वजह से लोगों में बेचैनी है। लगातार आ रही भयावह खबरों से लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है। इस बात को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। ताकि इसके माध्यम से लोग अपनी मानसिक समस्या का समाधान कर सकें।

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से उत्तराखंड भी अछूता नहीं है। यहां अब तक कोरोना के 35 मरीज सामने आ चुके हैं। वायरस का प्रसार रोकने के लिए ही लॉकडाउन किया गया है, पर लंबे समय से घर में रहने और कोरोना के डर के चलते लोगों में मानसिक तनाव बढ़ने लगा है। अपर सचिव स्वास्थ्य और एनएचएम के मिशन निदेशक युगल किशोर पंत ने बताया कि इस समस्या को देखते हुए एक हेल्पलाइन नंबर शुरू किया गया है। जिस पर लोग परामर्श ले सकते हैं। इस नंबर पर 24 घंटे कॉल की जा सकती है। 

ऐसे दूर करें तनाव 

  • -खुद को मानसिक रूप से मजबूत करना जरूरी है। यह सोचिए कि सबकुछ ठीक होगा और पूरी दुनिया इसी कोशिश में जुटी है। बस धैर्य के साथ इंतजार करें।
  • -अपने रिश्तों को मजबूत करें। छोटी-छोटी बातों का बुरा न मानें। एक दूसरे से बात करें और परिवार के सदस्यों का ख्याल रखें।
  • -घर से बाहर तो नहीं निकल सकते पर घर की छत, खिड़की, बालकनी या घर के बगीचे में आकर खड़े हों। सूरज की रोशनी में अच्छा महसूस होता है।
  • -अपनी दिनचर्या को बनाए रखें। इससे आप सामान्य महसूस करेंगे। हमेशा की तरह समय पर सोना, जागना, खाना व व्यायाम आदि करें।
  • -इस समय का इस्तेमाल अपनी हॉबी को पूरा करने में करें। ऐसा काम करें जो आप समय न मिलने के कारण नहीं कर पाए हैं।
  • -अपनी भावनाओं को जाहिर करें। अगर डर या उदासी है तो उसे छिपाएं नहीं। बल्कि परिजनों के साथ शेयर करें।
  • -बुरे वक्त में भी अच्छे पक्षों की तरफ गौर करना चाहिए। जैसी लॉकडाउन है, महामारी है, पर आप परिवार के साथ हैं।
  • -हर जगह इस वक्त कोरोना वायरस का ही जिक्र है और वही खबरें हैं। इसका ओवरडोज भी दिक्कत करेगा।

यह भी पढ़ें: coronavirus से निपटने को किचन में मौजूद इन चीजों का काढ़ा है फायदेमंद, जानिए और भी तरीके

विशेषज्ञ की सुनिये

न्यूरो साइकोलॉजिस्ट डॉ. सोना कौशल गुप्ता का मानना है कि लोगों के लिए इस वक्त पूरा माहौल बदल गया है। स्कूल, कॉलेज, दफ्तर सब बंद हैं। भागती-दौड़ती जिंदगी में अचानक ब्रेक और इस बीमारी का डर लोगों को बेचैन कर रहा है। उनके मानसिक स्वास्थ्य पर इसका प्रभाव पड़ रहा है। लोगों को परेशान करने वाली तीन मुख्य वजह हैं। पहला कोरोना संक्रमण का डर, दूसरा नौकरी व कारोबार को लेकर अनिश्चितता और तीसरा लॉकडाउन के कारण अकेलापन। इन हालात में व्यक्ति में तनाव बढ़ने लगता है। लेकिन धैर्य रखिए, सकारात्मक रहिए और अच्छा सोचिए। यह वक्त भी जल्दी बीत जाएगा।

यह भी पढ़ें: coronavirus को हराना है तो बढ़ाएं इम्युनिटी, आपके किचन में ही मौजूद हैं कई राज, जानिए उनके बारे में 

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस