देहरादून, जेएनएन। coronavirus से जंग के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का परिवार भी आगे आया है। एक ओर जहां सीएम रावत ने अपना पांच महीने का वेतन CM Relief Fund(मुख्यमंत्री राहत कोष) में देने का ऐलान किया है। इसके साथ ही उनकी पत्नी और दोनों बेटियों ने भी मुख्यमंत्री राहत कोष में मदद दी है। 

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। उत्तराखंड में भी अबतक सात मामले सामने आ चुके हैं, जबकि कई संदिग्धों को क्वारंटाइन में रखा गया है। ऐसे में कोरोना से जंग के लिए सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत अपना पांच महीने का वेतन सीएम राहत कोष में देंगे। इसके साथ ही उनकी पत्नी ने सुनीता रावत ने मुख्यमंत्री राहत कोष को एक लाख का चेक सहायता के लिए दिया है। 

इतना ही नहीं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की बेटियों ने भी कोरोना वायरस से लड़ाई को आगे आई हैं। उनकी बेटी कृति ने CM Relief Fund में पचास हजार रुपये दिए हैं। तो वहीं, बेटी श्रृजा ने दो हजार का चेक सौंपा है। 

यह भी पढ़ें: संघ सेवा से प्रभावित हुआ किन्नर समाज, गरीबों के लिए दी खाद्यान्न सामग्री

उद्योगपतियों ने भी दिया साथ 

coronavirus से जंग लड़ रही केंद्र और राज्य की मदद को सेलाकुई के उद्योगपति अरुण गुप्ता ने दस लाख रुपये दिए हैं। सेलाकुई औद्योगिक क्षेत्र की एलपीजी सिलेंडर बनाने वाली कंपनी तिरुपति एलपीजी इंडस्ट्रीज़ प्राइवेट लिमिटेड ने PM Relief Fund और  CM Relief Fund में पांच- पांच लाख रुपये जमा कराए। कंपनी के अकाउंटेंट विजय तिवारी ने बताया कि कंपनी स्वामी के दिशा-निर्देशन में यह राशि जमा कराई गई है।

यह भी पढ़ें: ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री राहत कोष में भेजे 11111 रुपये, पढ़ें पूरी खबर

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021