जागरण संवाददाता, देहरादून। कार्बेट टाइगर रिजर्व के कालागढ़ प्रभाग के तहत पाखरो रेंज के वन क्षेत्राधिकारी (रेंजर) बृज बिहारी शर्मा को पेड़ों के अवैध पातन के मामले में निलंबित कर दिया गया है। राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) की जांच में आरोप की पुष्टि होने के बाद प्रमुख मुख्य वन संरक्षक (पीसीसीएफ) राजीव भरतरी ने पाखरो रेंजर के निलंबन के आदेश जारी किए। रेंजर शर्मा पर पाखरो वन सफारी परियोजना में निर्धारित से अधिक पेड़ कटवाने का आरोप है।

पीसीसीएफ के आदेश के अनुसार, पाखरो रेंजर बृज बिहारी शर्मा पर पेड़ों के अवैध पातन के साथ अनाधिकृत रूप से उप प्रभागीय वनाधिकारी के पदनाम का प्रयोग कर वैधानिक-प्रशासनिक-वित्तीय स्वीकृति प्राप्त करने का आरोप भी है। इस संबंध में एनटीसीए को शिकायत प्राप्त होने के बाद जांच चल रही थी। जांच में आरोपों की पुष्टि होने पर एनटीसीए की ओर से कार्रवाई की संस्तुति की गई।

इस संबंध में कार्बेट टाइगर रिजर्व के निदेशक की ओर से पीसीसीएफ राजीव भरतरी को पत्र भेजा गया। इसी क्रम में सोमवार को वन मुख्यालय से पाखरो रेंजर के निलंबन का आदेश जारी कर दिया गया। आदेश के अनुसार, निलंबन की अवधि में रेंजर को जीवन निर्वाह भत्ते की धनराशि अर्द्धवेतन पर देय अवकाश वेतन की धनराशि के बराबर देय होगी। उन्हें जीवन निर्वाह भत्ते की धनराशि पर महंगाई भत्ता (यदि ऐसे अवकाश वेतन पर देय है) भी अनुमन्य होगा। निलंबन अवधि में बृज बिहारी शर्मा वन संरक्षक शिवालिक वृत्त के कार्यालय में संबंद्ध रहेंगे।

एनसीसी कैडेट ने प्लास्टिक वेस्ट के प्रति किया जागरूक

डीबीएस पीजी कालेज की एनसीसी बालिका वाहिनी ने आजादी का अमृत महोत्सव के तहत प्लास्टिक वेस्ट को लेकर आमजन को जागरूक किया। साथ ही उन्हें प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने को कहा। मंगलवार को एनसीसी कैडेट ने 11वीं उत्तराखंड बालिका वाहिनी की एएनओ कैप्टन महिमा श्रीवास्तव की देखरेख में जनजागरूकता अभियान चलाया। उन्होंने आमजन को सिंगल यूज प्लास्टिक से पर्यावरण को हो रहे नुकसान के बारे में बताया। साथ ही प्लास्टिक बैग की जगह कपड़े के बैग का इस्तेमाल करने को कहा। कालेज के प्राचार्य डा. वीसी पांडेय, सीओ कर्नल एसएस गुसाईं, मेजर स्वाति पांडेय ने एनसीसी कैडेट की ओर से किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की।

यह भी पढें- Jogiwala-Mussoorie Road: जोगीवाला-मसूरी मार्ग की भेंट चढ़ेंगे 2200 पेड़, पर्यावरणीय पहलुओं को लेकर अभी से होने लगा विरोध

Edited By: Raksha Panthri