देहरादून, राज्य ब्यूरो। कांग्रेस ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए उसके तीन साल के कार्यकाल को निराशाजनक करार दिया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह और नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने सरकार पर जनविरोधी नीति लागू करने का आरोप लगाते हुए प्रदेशव्यापी आंदोलन का एलान किया। कांग्रेस ने जनता के नाम एक आह्वान पत्र भी जारी किया। इसमें प्रदेश सरकार की नाकामियों की फेहरिस्त दी गई है। उन्होंने कहा कि सरकार की इन नीतियों के खिलाफ सड़क से सदन तक आवाज उठाई जाएगी।

रविवार को कांग्रेस भवन में पत्रकारों से बातचीत में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि केंद्र व प्रदेश में भाजपानीत सरकारों की गलत नीतियों की वजह से लोकतंत्र पर लगातार प्रहार किया जा रहा है। प्रदेश में भाजपा सरकार के तीन वर्षों में विकास अवरुद्ध हो रहा है। सरकार आमजन से जुड़े विषयों को नहीं उठा रही है। महंगाई चरम पर है। अर्थव्यवस्था गिर रही है। बेरोजगारों की संख्या कम हो रही है। गन्ना किसानों का भुगतान नहीं हो पाया है। जिला विकास प्राधिकरण का गठन कर भ्रष्टाचार के नए रास्ते खोले गए हैं। मलिन बस्तियों को उजाडऩे की योजना बनाई जा रही है।

तीर्थ पुरोहितों व हकहकूकधारियों को विश्वास में लिए बिना देवस्थानम बोर्ड का गठन किया गया है। सरकार की नजरें मंदिरों की संपत्तियों पर है। स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र में कुछ नहीं हुआ है। कानून व्यवस्था ध्वस्त है। घर-घर जाकर शराब बेची जा रही है। कांग्रेस इन सबके खिलाफ मोर्चा खोलेगी। प्रत्येक विधानसभा में धरना-प्रदर्शन कार्यक्रम किए जाएंगे। इसकी शुरुआत सोमवार को मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र डोईवाला से की जाएगी। 18 को विकासनगर में धरना प्रदर्शन किया जाएगा। इसके बाद 26 फरवरी को हल्द्वानी में सरकार के खिलाफ पदयात्रा निकाल कर जनता को जागृत किया जाएगा। 

नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने कहा कि सरकार ने किसी भी बड़े विषय पर निर्णय लेने से पहले प्रतिपक्ष के साथियों को विश्वास में लेकर वार्ता नहीं की। यहां तक कि कांग्रेस विधायकों के क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए भी बजट नहीं दिया गया। कांग्रेस पदयात्रा के दौरान लालटेन लेकर विकास कार्यों को ढूंढेगी। 

बेरोजगारी का घर-घर  सर्वे

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। पढ़े-लिखे युवा बेरोजगार घूम रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस अपने स्तर से घर-घर जाकर सर्वे करेगी कि एक घर में कितने लोग बेरोजगार है।कार्यसमिति में उठाएंगे सत्र की अवधि का मसला

कांग्रेस ने बजट सत्र की कम अवधि को लेकर सरकार की मंशा पर सवाल उठाए हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि बजट सत्र की अवधि बहुत कम है। राज्यपाल के अभिभाषण से लेकर विभागवार बजट प्रस्तुत करने के लिए समय चाहिए होता है। इस पर आवाज उठाई जाएगी। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि यह मामला कार्यसमिति की बैठक में भी उठाया जाएगा। यह समय बहुत कम है।

राष्ट्रीय पदाधिकारियों को निलंबित करने का अधिकार हमें नहीं

हरीश रावत के ट्वीट पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें यह नहीं पता कि उनका बयान क्या है। जहां तक प्रदेश कार्यकारिणी द्वारा उन्हें निलंबित करने की बात है तो प्रदेश कार्यकारिणी को यह अधिकार नहीं कि वह राष्ट्रीय पदाधिकारी को निलंबित करे। उन्होंने यह बात किसी परिप्रेक्ष्य में कही यह उन्हीं को बेहतर पता होगा। 

यह भी पढ़ें: पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के सियासी पैंतरे पर भाजपा का पलटवार

कांग्रेस सभी के हितों को संरक्षित करने के पक्ष में

प्रदेश में पदोन्नति में आरक्षण को लेकर प्रदेश में चल रहे आंदोलन पर कांग्रेस ने कहा कि कांग्रेस आरक्षित व अनारक्षित हर वर्ग के साथ खड़ी है। कांग्रेस सभी वर्गों व धर्मों को साथ लेकर चलती है। इस विषय पर फैसला सरकार को लेना है। 

यह भी पढ़ें: उत्‍तराखंड में कांग्रेस में अंदरूनी झगड़े से भाजपा को सुकून

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।