राज्य ब्यूरो, देहरादून। सल्ट उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी को मिली हार के बाद पार्टी ने कहा कि चुनाव में पार्टी प्रत्याशी ने कड़ी टक्कर दी। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भाजपा उम्मीदवार की जीत को अकूत धन व सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग की जीत बताया। वहीं, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि पार्टी जनादेश का सम्मान करती है। पार्टी इस हार के कारणों पर मंथन करेगी।

रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने चुनाव नतीजा आने के बाद एक बयान जारी कर कहा कि भारी धनराशि इस चुनाव में खर्च की गई और इसे रोकने के लिए जिम्मेदार अधिकारी मूकदर्शक बने रहे। फिर भी कांग्रेस कार्यकर्त्‍ताओं ने एकजुटता से चुनाव प्रचार कर विकट परिस्थिति का मुकाबला किया है। कांग्रेस उम्मीदवार ने चुनाव में भाजपा को जबरदस्त टक्कर दी।

उन्होंने कांग्रेस नेताओं सहित सभी कार्यकर्त्‍ताओं को चुनाव में विकट परिस्थितियों में एकजुटता से काम करने के लिए धन्यवाद दिया। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि पार्टी जनता के फैसले का पूरा सम्मान करती है। कांग्रेस ने मजबूती से चुनाव लड़ा। जो परिणाम आया है, उसके कारणों पर गहन मंथन किया जाएगा। राष्ट्रीय नेतृत्व से भी इस संबंध में परामर्श लिया जाएगा। इसी आधार पर आगे की चुनौती के लिए कांग्रेस कमर कस कर तैयार होगी।

भाजपा के घमंड की हुई हार

समाजवादी पार्टी लोहिया वाहिनी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष केके गौतम ने पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की जीत को लोकतंत्र की जीत बताया है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के घमंड की हार हुई है। कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है कि किसी प्रदेश के विधानसभा चुनाव में केंद्र सरकार ने राजनीति की सभी मर्यादाओं को ताक पर रख दिया था। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने प्रचार के इस प्रकार के गलत तरीकों को धत्ता बताते हुए भाजपा के घमंड को चकनाचूर करने का काम किया है। कहा कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय उपध्यक्ष किरणमय नंदा व जया बच्चन ने टीएमसी के लिए प्रचार करते हुए चुनाव की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

यह भी पढ़ें-सल्ट उपचुनाव: भाजपा की साख बरकरार, मनोबल बढ़ाने वाली जीत

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें