देहरादून, जेएनएन। दून शहर में अतिक्रमण हटाने को व्यापारियों का उत्पीड़न करार देते हुए महानगर कांग्रेस ने सरकार और एमडीडीए का पुतला दहन किया। आरोप लगाया कि रोजगार देने के बजाय भाजपा सरकार व्यापारियों का रोजगार छीन रही है।

कांग्रेस कार्यकर्ता महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा के नेतृत्व में राजपुर रोड स्थित कांग्रेस भवन में एकत्र हुए। इसके बाद नारेबाजी करते हुए एस्लेहॉल चौक पर पहुंचे। जहां भाजपा सरकार व एमडीडीए के पुतले को आग के हवाले किया।

इस मौके पर लालचंद शर्मा ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार के दबाव में एमडीडीए अतिक्रमण के नाम पर छोटे व्यापारियों के व्यापार को उजाड़कर उनका उत्पीड़न कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा उच्च न्यायालय के आदेशों की आड़ में अतिक्रमण विरोधी अभियान के नाम पर छोटे व्यापारियों को नोटिस जारी किये गये हैं। कुछ के निर्माण ध्वस्त कर उनकी रोजी-रोटी पर छीन ली गई है। इसका कांग्रेस पार्टी विरोध करती है। 

कहा कि मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण व स्थानीय प्रशासन ने तानाशाही रवैया अपनाते हुए यहां के मूल निवासियों, कमजोर व मध्यम वर्ग के लोगों के घरों व छोटे-छोटे व्यापारियों की दुकानों को नोटिस जारी किए हैं। इससे भाजपा का गरीब व व्यापारी विरोधी चेहरा बेनकाब होता है। कहा कि सरकार के दिशा निर्देश में मसूरी देहरादून प्राधिकरण जिस प्रकार की कार्रवाई कर रही है, उससे व्यापारियों में दहशत है। 

यह भी पढ़ें: आयुष छात्रों के आंदोलन पर छाने लगा सियासी रंग, विपक्षी दल हुए मुखर Dehradun News

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी गरीब, व्यापारियों, बेरोजगार का उत्पीड़न कतई बर्दास्त नहीं करेगी व सड़कों पर उतर कर इसका विरोध करेगी। पुतला दहन करने वालों में प्रदेश महामंत्री गोदावरी थापली, पूर्व विधायक राजकुमार, प्रदेश सचिव, शांति रावत, प्रदेश सचिव राजेश पांडे, दीप बोहरा, राजेश चमोली, प्रवक्ता डॉ. प्रतिमा सिंह, संदीप चमोली, ललित भद्री, संजय काला, डॉ. प्रदीप जोशी, नागेश रतूड़ी, रॉबिन पुंडीर, पार्षद नीनू सहगल, सुमित्रा ध्यानी, अर्जुन सोनकर, कमलेश रमन आदि शामिल रहे।

यह भी पढ़ें: आंदोलनकारी बोले, पहाड़ की राजधानी बननी चाहिए पहाड़ में ही

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप