देहरादून, जेएनएन। सीमा विस्तार के बाद शहर का हिस्सा बनाए गए 32 नए वार्डों में व्यवसायिक प्रॉपर्टी टैक्स की वसूली को लेकर नगर निगम ने कसरत तेज कर दी है। निगम ने टैक्स की जो दरें तय की हैं, उन पर आपत्तियां आएंगी और उनकी सुनवाई के बाद अंतिम फैसला होना है। आपत्तियों की सुनवाई के लिए निगम ने छह सदस्यीय कमेटी गठित की है। कमेटी 31 अक्टूबर तक आपत्तियां सुनेगी। कमेटी ने शनिवार से काम शुरू किया, मगर पहले दिन कोई आपत्ति नहीं आई। 

पिछले साल तक नगर निगम में केवल 60 वार्ड थे, लेकिन आसपास के 72 गांव शामिल करने के बाद वार्ड की संख्या 100 हो गई। वार्ड के हिसाब से 40 वार्ड बढ़े हैं लेकिन नया क्षेत्र केवल 32 वार्ड में शामिल है। नए वार्डो में राज्य सरकार की ओर से आवासीय भवनों पर टैक्स के लिए दस वर्ष की छूट दी गई है, मगर व्यवसायिक भवनों को कोई रियायत नहीं दी गई। नगम ने सड़कों की चौड़ाई के हिसाब से नए वार्ड में व्यवसायिक भवनों पर प्रापर्टी टैक्स की नई दरें लागू की हैं। नियमानुसार पहले नई दरों पर आपत्तियों का मौका दिया जाएगा औरप सुनवाई के बाद अंतिम फैसला होगा। 

नगर आयुक्त विनय शंकर पांडेय ने आपत्तियों पर सुनवाई के लिए शनिवार को छह सदस्यीय कमेटी गठित की। जिसमें उपनगर आयुक्त सोनिया पंत को अध्यक्ष नियुक्त किया गया। सहायक नगर आयुक्त रविंद्र कुमार दयाल, अधिशासी अभियंता अनुपम भटनागर, कर अधीक्षक धर्मेश पैन्यूली एवं ड्राफ्टमैन चंद्र प्रकाश आहूजा को कमेटी में सदस्य बनाया गया है। कर अधीक्षक पूनम रावत को सदस्य सचिव बनाया है। आयुक्त ने बताया कि 15 दिन का समय आपत्तियों व उनकी सुनवाई के लिए दिया है। नई दरों में पक्का एवं कच्च भवन, प्लॉट की श्रेणी आदि भी बनाई गई हैं। निगम पुराने क्षेत्र के 68 वार्ड में पहले से ही व्यवसायिक टैक्स वसूल कर रहा है। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड सरकार नहीं चुकाएगी मंत्रियों के आयकर, स्वयं करना होगा भुगतान

इन नए वार्डों में व्यवसायिक भवनों से वसूला जाएगा प्रापर्टी टैक्स 

मालसी, विजयपुर, रांझावाला, गुजराड़ा मानसिंह, डांडा लखौड़, आमवाला तरला, ननूरखेड़ाए लाडपुर, नेहरू ग्राम, डोभाल चौक, रायपुर, मोहकमपुर, मियांवाला, भारूवाला ग्रांट, बंजारावला, मोथरोवाला, सेवलाकलां, पित्थूवाला, मेहूंवाला, हरभजवाला, मोहब्बेवाला, चंद्रबनी, आरकेडिया-एक, आरकेडिया-दो, नत्थनपुर-एक, नत्थनपुर-दो, नवादा, हर्रावाला, बालावाला, नकरौंदा, नथुआवाला। 

यह भी पढ़ें: कॉरपोरेट टैक्स में कमी से उद्योग जगत को बड़ी राहत, पढ़िए पूरी खबर

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप