राज्‍य ब्‍यूरो, देहरादून:  मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने नंद प्रयाग-घाट मोटर मार्ग को डेढ़ लेन का करने की घोषणा की है। इस घोषणा से मार्ग के चौड़ीकरण को लेकर आंदोलनरत स्थानीय निवासियों की मांग भी पूरी हो गई है। मुख्यमंत्री ने वित्त, नियोजन और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को इस पर तुरंत कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता सबसे बढ़कर है। जो जनता चाहेगी और जो जनता के हित में होगा, वह किया जाएगा। जनहित में हर मुमकिन काम किया जाएगा। 

 चमोली जिले के नंद्रप्रयाग, घाट क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले 70 गांवों के ग्रामीण अपने विकास खंड की सड़क को डेढ़ लेन करने की मांग को लेकर आंदोलनरत हैं। गैरसैंण में विधानसभा के बजट सत्र के दौरान स्थानीय निवासियों ने गैरसैंण विधानसभा कूच किया था। गुरुवार को क्षेत्रीय विधायक मुन्नी देवी ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर उन्हें ग्रामीणों के आंदोलन से अवगत कराया। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि सिंगल लेन सड़क होने के कारण नंदप्रयाग क्षेत्र के ग्रामीणों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। संकरे मार्ग पर दुर्घटनाओं का खतरा रहता है। ऐसे में ग्रामीणों की जायज मांग मानी जानी चाहिए। इस पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने थराली विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले इस मार्ग को डेढ़ लेन का करने की घोषणा की। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को इस दिशा में शीघ्र कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। 

यह भी पढ़ें- चारधाम यात्रा के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट और वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट अनिवार्य

प्रतिनिधिमंडल में ब्लाक प्रमुख घाट भारती देवी फरस्वाण, जिला पंचायत सदस्य नंदिता रावत, मंडल अध्यक्ष घाट खिलाप सिंह नेगी, ज्येष्ठ प्रमुख घाट अब्बल सिंह कठैत, पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य राकेश रावत, त्रिभुवन सिंह फरस्वाण व हरेंद्र सिंह आदि शामिल थे। 

यह भी पढ़ें- दिल्ली जाने वाली रोडवेज बसों को मिली राहत, यात्रियों को दिखाना होगा यात्रा का टिकट

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021