राज्य ब्यूरो, देहरादून। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मोहकमपुर में हंस फाउंडेशन डायलिसिस केंद्र का लोकार्पण किया। माता मंगला के जन्मदिन के अवसर पर फाउंडेशन के संस्थापक भोले जी महाराज और माता मंगला ने उत्तराखंड को 14 डायलिसिस केंद्रों और 13 सचल चिकित्सालयों की सौगात दी है।  

मुख्यमंत्री धामी ने माता मंगला को जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए उनके स्वस्थ रहनेऔर दीर्घायु की कामना की। उन्होंने कहा कि माता मंगला और भोले जी महाराज ने अपना पूरा जीवन परमार्थ के लिए लिए समर्पित किया है। उनके लिए नर सेवा ही नारायण सेवा है। उत्तराखंड ही नहीं, बल्कि पूरे देश में वे जन सेवा के लिए अनेक कार्य कर रहे हैं। माता मंगला के जन्मदिन पर हंस फाउंडेशन ने राज्य को स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़ी सौगात दी गई है।

सीएम धामी ने इसके लिए भोले जी महाराज और माता मंगला का आभार जताया। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के दौरान माता मंगला और भोले जी महाराज ने फाउंडेशन के माध्यम से अनेक सेवा के कार्य किये। स्वास्थ्य सुविधाओं और खाद्यान्न वितरण कर जन सेवा की गई। 

वहीं, स्वास्थ्य मंत्री डा धन सिंह रावत ने जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हंस फाउण्डेशन के संस्थापक भोले जी महाराज और माता मंगला ने उत्तराखंड के लिए समय-समय पर अनेक सौगात दी हैं। आज स्वास्थ्य के क्षेत्र में उन्होंने डायलिसिस केंद्रों और सचल चिकित्सालयों की बड़ी सौगात दी है। 12 दूरस्थ डिग्री कालेजों के लिए भी उन्होंने एक लाख किताबें दी हैं। 

माता मंगला ने कहा, मेरी भगवान से प्रार्थना है कि मुझे जितना भी समय मिले, मैं जन सेवा कर सकूं। जन समस्याओं के समाधान के लिए हम सभी को प्रयास करने होंगे। अगर प्रत्येक व्यक्ति एक-एक आदमी की मदद भी करता है तो यह अपने आप में बड़ी उपलब्धि होगी, जिन बच्चों की आज हम सेवा कर रहे हैं, कल वे अपने पैरो पर खड़े होंगे। यह आत्म सन्तुष्टि का भाव है। इस अवसर पर हंस फाउंडेशन के संस्थापक भोले जी महाराज, सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी, हंस फाउंडेशन के पदाधिकारी और गणमान्य उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें- देहरादून: बेटी की सही देखभाल नहीं हुई तो मां ने स्वास्थ्य मंत्री को मिला दिया फोन, पीड़ा सुन देर शाम पहुंचे अस्पताल

Edited By: Raksha Panthri