देहरादून, राज्य ब्यूरो। कोरोना वायरस के संक्त्रमण से बचाव के सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी शामिल हुए। इसके बाद में मुख्यमंत्री ने सचिवालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सभी जिलों के जिलाधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कोरोना के मद्देनजर सभी जिलों में अपर जिलाधिकारी स्तर के अधिकारियों को नोडल अधिकारी बनाने के निर्देश दिए। नोडल अधिकारी अपने जिलों में सभी अस्पतालों का निरीक्षण कर जिलाधिकारी को लगातार अपडेट करते रहेंगे। साथ ही तैयारियों को लेकर आने वाली अड़चनों व जरूरी आवश्यकताओं को लेकर भी अवगत कराएंगे, ताकि जिला व शासन स्तर पर कदम उठाए जा सकें।

मुख्यमंत्री ने परिवेश की स्वच्छता पर जोर देते हुए कहा कि सार्वजनिक स्थलों को सेनिटाइज करना अत्यंत जरूरी है। सभी जिलाधिकारी निरंतर इसकी रिपोर्ट लेते रहें। उन्होंने सभी नगर निकायों को पूरी सक्त्रियता से कार्य करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि खाद्य पदाथरें की आपूर्ति सुचारू रूप से बनी रहे, इसके लिए स्थानीय व्यापार मंडलों, मंडी परिषदों से संपर्क कर व्यवस्थाएं बनाई जाए। इस बात का ख्याल रखा जाए कि अफरातफरी का माहौल न बने। अफवाहें फैलाने वालों के साथ सख्ती से पेश आने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिए। 

उन्होंने कहा कि क्वारंटाइन के लिए जरूरत पड़ने पर निजी होटल, हॉस्टल आदि को लिया जा सकता है। इसके लिए वहा स्टाफ के प्रशिक्षण आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। क्वारंटाइन के लिए सिंगल रूम वाले होटल या हास्टल बेहतर हो सकते हैं। ये ध्यान रखा जाए कि इनमें सेंट्रल एसी न हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में पर्यटकों की आवाजाही रोक दी गई है। अलबत्ता, ऐसे पर्यटक जिनका वीजा समाप्त हो रहा है, उनके वीजा को 15 अप्रैल तक बढ़ाने के निर्देश केंद्र सरकार ने जारी कर दिए हैं। 

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कोरोना का संदिग्ध पाए जाने पर तय गाइडलाइन और प्रोटोकोल के अनुसार कार्यवाही की जाए। साथ ही सभी डीएम को नियमित रूप से डाटा अपडेट करने को कहा। उन्होंने कोरोना से बचाव के लिए व्यापक जनजागरण की जरूरत बताई और कहा कि आमजन को सामाजिक दूरी बनाकर रखने के लिए जागरूक किया जाए। साथ ही वरिष्ठ नागरिकों और 10 साल से कम आयु के बच्चों को घर में रहने की सलाह दी और 22 मार्च के जनता कफ्यू को सफल बनाने की राज्यवासियों से अपेक्षा की। 

यह भी पढ़ें: Coronavirus: छात्र बोले, परीक्षा से नहीं कोरोना से डर लगता है सर

इससे पहले प्रधानमंत्री की मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई बैठक में मुख्यमंत्री रावत ने भी भाग लिया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि वे अपने राज्यों में दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने पर विशेष जोर दें। साथ ही फार्मस्युटिकल कंपनियों से हुई वार्ता का हवाला देते कहा कि सभी कंपनियों ने भरोसा दिलाया है कि दवाओं की कोई दिक्कत नहीं होगी। उन्होंने व्यापारियों से भी लगातार संपर्क बनाए रखने पर भी बल दिया। 

यह भी पढ़ें: Coronavirus: देहरादून के होटल में ठहरी फरीदाबाद की महिला कोरोना पॉजिटिव

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस