देहरादून, जेएनएन। जमीन बेचने के नाम पर सेवानिवृत्त फौजी से लाखों रुपये हड़पने का मामला सामने आया है। पीड़ित फौजी ने इसकी शिकायत आइजी एसआइटी से की। उसके बाद रायपुर थाने में पुलिस ने धोखाधड़ी करने वाले तीन आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

रिटायर्ड फौजी बलवंत सिंह पुत्र राम सिंह बिष्ट निवासी चकतुनवाला, बांगखाला ने आइजी एसआइटी संजय गुंज्याल को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि अनिल खंडूड़ी पुत्र एमआर खंडूड़ी निवासी नेहरू कॉलोनी ने चकतुनवाला में 227 वर्ग गज का एक प्लॉट बेचने का सौदा उनसे किया था। 

इस संबंध में छह जून 2018 को उनकी पत्नी सुशीला बिष्ट के साथ एक करार भी हुआ था। उन्होंने जमीन के लिए पहले साढ़े पांच लाख रुपये और उसके बाद आठ लाख तीस हजार रुपये का चेक अनिल खंडूड़ी को दिए। 

जब उन्होंने अनिल खंडूरी से जमीन की रजिस्ट्री कराने को कहा तो उसने कहा कि बांगखाला की जमीन बिक चुकी है अब वह भानियावाला में उन्हें इसके बदले जमीन देगा। उसके बाद जब इस भूमि की रजिस्ट्री कराने के लिए कहा गया तो अनिल खंडूड़ी गायब हो गया। 

26 जून 2019 को बबन नेगी निवासी श्यामपुर ने उन्हें फोन कर घर बुलाया। जब वे बबन के घर पहुंचे तो अनिल खंडूड़ी, वीर सिंह कंडारी निवासी अशोक विहार अजबपुरकलां भी वहां पर मौजूद था। तब बबन ने उन्हें कहा कि अनिल भूमि नहीं देगा क्योंकि वह जमीन उसने खरीद ली है। 

इसके एवज में वह उन्हें जमीन या 22 लाख रुपये देगा। इसमें अनिल दस जुलाई तक उन्हें 10 लाख रुपये देगा। फौजी ने बताया कि जब उन्होंने दस जुलाई को अनिल का फोन किया तो उसका फोन बंद आया। जब उन्होंने बबन से पैसे दिलाने की बात कही तो उसने भी साफ इन्कार कर दिया। 

यह भी पढ़ें: टैक्सी संचालक समेत दो महिलाओं पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

उन्होंने पैसे वापस करने का दबाव बनाया तो तीनों आरोपित अनिल खंडूड़ी, बबन नेगी और वीर सिंह कंडारी ने उन्हें अंजाम भुगतने की धमकी दी। एसओ रायपुर देवेंद्र चौहान ने बताया कि पीड़ित फौजी की तहरीर पर तीनों आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें: किटी कमेटी के नाम पर 15 लाख रुपये हड़पे, पांच के खिलाफ मुकदमा

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप