जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी। आपदा प्रभावितों का हालचाल जानने के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बारिश के बीच बुधवार को उत्तरकाशी पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कहीं भी बारिश रुकने का इंतजार नहीं किया, बल्कि आपदा प्रभावितों के बीच जाकर उनकी समस्याएं सुनी। सीएम ने अधिकांश समस्याओं के त्वरित निस्तारण के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बताया कि आपदा प्रभावितों से मिलने वो मंगलवार को ही आने वाले थे, लेकिन दिनभर बारिश होने के कारण नहीं आ पाए। बुधवार सुबह भी बारिश के कारण वे कार से ही उत्तरकाशी आ रहे थे। लेकिन, तब तक मौसम सही हुआ तो हेलीकाप्टर से उत्तरकाशी पहुंचे, लेकिन उत्तरकाशी पहुंचते ही बारिश शुरू हो गई। यहीं नहीं सीएम ने रोती-बिखलाती महिलाओं के बीच पहुंचकर उन्हें ढांढस भी बंधाया। वहीं कंकराड़ी गांव में मृतक के स्वजन के बीच जाकर मुख्यमंत्री ने शोक संवेदनाएं जताई।

लापता युवक का शव बरामद

कंकराड़ी गांव में रविवार की आपदा में 27 वर्षीय सुमन पुत्र गोकुल सिंह लापता हो गए थे। युवक खेतों में पानी बंद करने गया था, लेकिन वापसी के दौरान जलजले की चपेट में आ गया। युवक की तलाश में एनडीआरएफ के निरीक्षक रविंद्र राणा के नेतृत्व में टीम जुटी थी। बुधवार को साड़ा गांव के निकट इंद्रावती नदी के पास युवक का शव बरामद हुआ, जिसे पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा गया।

कूड़ा निस्तारण केंद्र का विरोध

तिलोथ के पास बुधवार को महिलाओं व ग्रामीणों ने कूड़ा निस्तारण केंद्र का विरोध किया। महिलाओं ने तिलोथ के पास मुख्यमंत्री का काफिला भी रोका। साथ ही कूड़ा निस्तारण केंद्र के बजाय पार्क बनाने की मांग की। कहा कि जिस स्थान पर कूड़ा निस्तारण केंद्र बन रहा है, उससे गांव को भूस्खलन का खतरा है। साथ ही गंदगी से निकटवर्ती बस्ती में रहना भी मुश्किल हो जाएगा।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी का केदारनाथ दौरा स्थगित, सचिवालय में अतिवृष्टि और आपदा प्रबंधन की करेंगे समीक्षा

 

Edited By: Raksha Panthri