v style="text-align: justify;">देहरादून, [जेएनएन]: जम्मू कश्मीर में सैनिकों के खिलाफ दर्ज झूठे मुकदमों से गुस्साए उत्तराखंड क्रांति दल (उक्रांद) कार्यकर्ताओं ने रेलवे स्टेशन पर लिंक एक्सप्रेस रोककर प्रदर्शन किया। पुलिस ने जबरन कार्यकर्ताओं को रेल से नीचे उतारा जिसके बाद लिंक एक्सप्रेस रवाना हुई। प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई। 

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम अनुसार उक्रांद के महानगर अध्यक्ष संजय क्षेत्री के नेतृत्व में कार्यकर्ता सोमवार को रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। जहां उन्होंने दोपहर में जाने वाली लिंक एक्सप्रेस रोकने का प्रयास किया। पूर्व सूचना पर पुलिस पहले से ही स्टेशन में तैनात थी, कुछ कार्यकर्ताओं को पुलिस ने मुख्य द्वार पर ही रोक लिया था लेकिन कुछ कार्यकर्ता छोटी-छोटी टोली बनाकर पार्सल गेट से रेलवे स्टेशन के भीतर घुसे और लिंक एक्सप्रेस पर चढ़ गए। 
इंजन चालू होने पर कार्यकर्ताओं को नीचे उतारने के दौरान पुलिस से तीखी नोकझोंक हुई। कुछ कार्यकर्ता रेलवे ट्रैक पर ही लेट गए, उन्हें भी पुलिस ने जबरन उठाकर ट्रैक खाली करवाया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जम्मू कश्मीर में 10 गढ़वाल रेजिमेंट के सैनिकों पर झूठे मुकदमे दर्ज करवाए गए हैं। इस मामले में केंद्र सरकार चुप्पी साधे बैठी है, जबकि केंद्र का मुकदमे वापस करवाने चाहिए थे। 
प्रदर्शन करने वालों में केंद्रीय महामंत्री जयप्रकाश उपाध्याय, लताफत हुसैन, मोहित डोभाल, सोहन भट्ट , रोशन बलूनी, सुरेंद्र पोखरियाल, मुकेश कोठारी, गौरव उनियाल, ललित कुमार, विजय क्षेत्री, धीरेंद्र बिष्ट, महिला महानगर अध्यक्ष सारिका थापा, अनीता शास्त्री, रामेश्वरी चौहान, राजेश्वरी रावत, बीना भंडारी पूजा नेगी, रूबी खान आदि मौजूद रहे। 

By Raksha Panthari