जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। तीर्थयात्री की पिटाई कर उसके सिर में गंभीर चोट पहुंचाने वाले करीब 15 राफ्टिंग गाइड व राफ्टिंग कर्मियों के खिलाफ मुनिकीरेती पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

इस मामले में अंधेरी मुंबई निवासी केतन रावल पुत्र कालूराम ने मुनिकीरेती पुलिस को तहरीर दी। जिसमें उन्होंने बताया कि वह अपने दोस्तों के साथ केदारनाथ की यात्रा पर गए थे। यात्रा से लौटने के बाद बुधवार की शाम को वह आस्था पथ पर घूम रहे थे।

इस बीच कुछ राफ्टिंग कराने वाले एक राफ्ट को उठा कर ला रहे थे। इस राफ्ट से उन्हे टक्कर लग गई। जब केतन ने राफ्टिंग कर्मियों को देख कर चलने को कहा तो वह गलती स्वीकार करने के बजाय उनसे उलझने लगे।

आरोप है कि जब वह हिमालय डिस्कवरी राफ्टिंग आफिस खारास्रोत के बाहर से गुजर रहे थे तभी राफ्टिंग गाइड अरुण, मोनू, अभिषेक सहित 10 से15 अन्य व्यक्तियों ने उन्हें घेर लिया और उनके साथ गाली गलौज व मारपीट शुरू कर दी।

इस बीच किसी व्यक्ति ने राफ्टिंग पेडल से उनके सिर पर वार कर दिया, जिससे उनके सिर में गंभीर चोट आई है। जिसके बाद हमलावर मौके से भाग गए। थाना प्रभारी निरीक्षक मुनिकीरेती रितेश शाह ने बताया कि तहरीर के आधार पर अरुण, मोनू, अभिषेक को नामजद सहित 15 अन्य के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर दिया गया है।

छह माह में 89 मादक पदार्थ तस्कर पुलिस ने धरे

तीर्थनगरी ऋषिकेश में नशीले पदार्थ की तस्करी किस कदर पैर पसार चुकी है, इसकी बानगी पुलिस का रिकार्ड ही बयां करता है। ऋषिकेश कोतवाली पुलिस पिछले छह माह में शराब और स्मैक की तस्करी में 89 आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है।

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रवि कुमार सैनी ने बताया कि क्षेत्र में नशीले पदार्थ की तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस की ओर से लगातार संदिग्धों के ठिकानों पर दबिश देने, वाहनों तथा संदिग्धों की चेकिंग की कार्रवाई की जाती है।

उन्होंने बताया कि इन छह माह में पुलिस ने कुल 5194 पव्वे अंग्रेजी शराब, 3560 पव्वे देशी शराब, 172 लीटर कच्ची शराब, 75 ग्राम स्मैक, एक किलो 442 ग्राम चरस, 13 किलो गांजा व 26 नशीले इंजेक्शन बरामद किए हैं। जिसमें कुल 89 आरोपितों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कार्रवाई की गई। वहीं आठ चौपहिया व नौ दोपहिया वाहनों सहित कुल 17 वाहनों को सीज किया गया है।

Edited By: Sunil Negi