देहरादून, [जेएनएन]: छावनी परिषद देहरादून ने प्रेमनगर व गढ़ी में अतिक्रमण के खिलाफ  अभियान चलाया। इस दौरान टीम ने सड़क किनारे लगे होर्डिंग, बैनर, फ्लैक्स, सड़क किनारे बने रैम्प आदि को जेसीबी की मदद से हटाया गया। वहीं, शहर में प्रशासन अतिक्रमण पर निशान लगाने तक ही सीमित रहा। 

कैंट बोर्ड के मुख्य अधिशासी जाकिर हुसैन ने बताया कि प्रेमनगर बाजार एवं गढ़ी में अतिक्रमण के खिलाफ  अभियान चलाया गया। अभियान के दौरान एक दर्जन से अधिक सड़क किनारे कब्जा कर बनाए गए रैम्प तोड़े गए। इसके अलावा प्रेमनगर क्षेत्र में 30 बड़े होर्डिंग हटाए गए। 

उन्होंने बताया कि अभियान के दौरान जेब्रा टीम ने करीब दस किलो पॉलीथिन भी जब्त की। सीईओ ने कहा कि प्रथम चरण में कुछ व्यापारियों को नोटिस भी दिया जा रहा है। ताकि वे स्वयं अतिक्रमण को तोड़ लें। अगर ऐसा नहीं हुआ तो टीम फिर से कार्रवाई करते हुए अवैध निर्माण तोड़ेगी। जिसका पैसा भी अवैध निर्माण करने वाले से वसूला जाएगा। 

उन्होंने कहा कि यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। इस अवसर पर स्वच्छता निरीक्षक मनोज कुमार बिष्ट, अवर अभियंता विजय कोहली, विनोद कुमार, राजन, सुशील कुमार, चैरी जूलियन, सतीश कुमार आदि मौजूद रहे।

 

हाईकोर्ट के निर्देश पर हटेगा गेटेड कॉलोनी का अतिक्रमण

अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने कहा कि गेटेड कॉलोनी का अतिक्रमण हाईकोर्ट के आदेश पर ही हटाया जाएगा। इसके लिए कॉलोनीवासी हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट जा सकते हैं। ताकि इस मामले में टास्क फोर्स कार्रवाई कर सके। इधर, शहर के अतिक्रमण पर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई नहीं चली। टास्क फोर्स ने दो जोन में 60 अतिक्रमण पर लाल निशान लगाने की कार्रवाई की। 

हाईकोर्ट के आदेश पर शहर में हटाए जा रहे अतिक्रमण की कार्रवाई पुलिस फोर्स आने के बाद भी रफ्तार नहीं पकड़ पाई है। पिछले दस दिनों से टास्क फोर्स ने चार जोन में 6814 अतिक्रमण पर लाल निशान लगाए  हैं। 

पुलिस फोर्स के कांवड़ ड्यूटी पर होने के चलते ध्वस्तीकरण की कार्रवाई थम गई थी। अब कांवड़ मेले से टीम वापस आ गई है। मगर, ध्वस्तीकरण की कार्रवाई शुरू नहीं हो पाई है। शहर में सिर्फ चिह्निकरण का कार्य हो रहा है। 

इधर, अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने विद्युत, लोक निर्माण विभाग, एमडीडीए, सिंचाई विभाग आदि को निर्देश दिए कि हटाए गए अतिक्रमण वाले स्थानों को आवाजाही के लिए सुरक्षित करें। ताकि आम लोगों को इससे परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि संडे मार्केट को अग्रिम आदेश तक बंद रखा जाए। 

लाल निशान लगते ही हटा रहे अतिक्रमण 

शहर में ध्वस्तीकरण की कार्रवाई भले ही थमी हो, मगर कुछ जगह लोग लाल निशान लगते ही स्वयं अतिक्रमण हटा रहे हैं। शहर के मुख्य मार्गों के अलावा लिंक मार्गों पर इन दिनों चिह्नीकरण का कार्य चल रहा है। लोग जेसीबी से ध्वस्तीकरण की कार्रवाई से पहले स्वयं अतिक्रमण हटा रहे हैं। 

शहर के नेहरू कॉलोनी, बल्लीवाला से वसंतविहार, सीमाद्वार, कारगी चौक, धर्मपुर आदि इलाकों में लोग बड़ी संख्या में स्वयं अतिक्रमण हटा रहे हैं। इससे कई जगह डेढ़ से दो मीटर तक सड़क अतिक्रमणमुक्त हुई है।

यह भी पढ़ें: अतिक्रमण की पहचान को सैटेलाइट से नक्शा मिला, भाषा की आई अड़चन

यह भी पढ़ें: सैटेलाइट में पकड़ में नहीं आ रहा अतिक्रमण, सड़कों पर खर्च होंगे 100 करोड़

यह भी पढ़ें: हटाए गए अतिक्रमण को सेटेलाइट से किया जाएगा कैद

By Bhanu