राज्‍य ब्‍यूरो, देहरादून। उत्‍तर प्रदेश के बरेली से उत्तराखंड सरकार में महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या (Cabinet Minister Rekha Arya,) के दो रिश्तेदार शराब तस्करी में पकड़े गए। इस पर कैब‍िनेट मंत्री रेखा आर्या ने कहा मेरा जन्म उत्तराखंड में हुआ। मेरी कर्मभूमि उत्तराखंड है और मेरा पूरा जीवन उत्तराखंड को समर्पित है। यह सही है कि मेरी ससुराल बरेली में है।

मेरे रिश्तेदार बरेली के अलावा दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड समेत अन्य राज्यों में भी हैं। जो लोग मेरे नाम का दुरुपयोग कर स्वयं को मेरा रिश्तेदार बताकर गलत कार्य कर रहे हैं, उनसे मेरा कोई लेना-देना नहीं है।

ऐसे लोगों के विरुद्ध की जाए सख्त से सख्त कार्रवाई

मेरा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही वहां के शासन-प्रशासन से आग्रह है कि ऐसे लोगों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। यही नहीं, मेरे पति गिरधारीलाल साहू ने हाल में विज्ञापन भी जारी किया था कि जो लोग हमारे नाम का दुरुपयोग कर गलत कार्य कर रहे हैं, उनसे हमारा कोई लेना-देना नहीं है।

क्‍या है मामला

उत्तराखंड सरकार में कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य के दो रिश्तेदार उत्‍तर प्रदेश के बरेली से शराब तस्करी में पकड़े गए। 15 अगस्त को दोनों आरोपित भाई अपमिश्रित देसी शराब खपा रहे थे। इनके विरुद्ध रिपोर्ट लिखकर जेल भेज दिया गया।

  • मंत्री रेखा आर्य के पति गिरधारी लाल साहू उर्फ पप्पू मूल रूप से जोगी नवादा मुहल्ले के रहने वाले हैं। पुलिस के अनुसार, इसी मुहल्ले में गिरधारी लाल साहू का भांजा अमित व अंकित रहता है।
  • 15 अगस्त को सूचना मिली कि सम्राट अशोक नगर में अमित राठौर किराना की दुकान से देसी शराब बेच रहा है।
  • उसकी निशानदेही पर घर में उसका भाई अंकित उर्फ पप्पू राठौर अपमिश्रित शराब बनाते समय पकड़ा गया।

पहले भी पकड़ा जा चुका है अंकित

बारादरी थाना पुलिस ने बताया कि 15 अगस्त को शराब की दुकानें बंद थीं। ऐसे में अंकित ने अवैध शराब की खेप तैयार कर खपानी शुरू कर दी। विधानसभा चुनाव के समय भी वह शराब बनाते समय गिरफ्तार किया गया था। दोनों ने स्वीकारा कि एक बोतल असली शराब से तीन बोतल अपमिश्रित शराब तैयार करते थे।

Edited By: Sunil Negi