देहरादून, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के जिलों में जाकर विकास योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा के एलान के बाद अब प्रदेश संगठन ने सभी मंत्रियों को अपने प्रभार वाले जिलों में जाकर प्रवास करने को कहा है। प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के मुताबिक इस संबंध में सभी मंत्रियों को पत्र भेजा गया है।

उत्तराखंड में अब विधानसभा चुनाव के लिए डेढ़ साल से भी कम वक्त शेष है। पार्टी धीरे-धीरे चुनावी मोड में आ रही है। कोरोना संक्रमण के कारण पिछले आठ महीनों से सामान्य गतिविधियां प्रभावित हुईं। हालांकि, भाजपा ने विधानसभा क्षेत्रों में वर्चुअल रैलियों का आयोजन कर कार्यकर्त्ताओं को लगातार सक्रिय रखा। अब स्वयं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जिलों के दौरे शुरू कर दिए हैं। हाल ही में उन्होंने कहा कि उनका प्रयास गांवों तक भी पहुंचने का रहेगा।इसी कड़ी में अब भाजपा संगठन ने भी कदम बढ़ाए हैं। 

प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने सोमवार को प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि कोर कमेटी के फैसले के अनुसार सभी प्रभारी मंत्रियों को अपने-अपने जिले में जाकर प्रवास करने को कहा गया है। प्रशासनिक बैठक से पहले जनता और कार्यकर्त्ताओं से मिलने व रात्रि विश्राम भी उसी जिले में करने को मंत्रियों को कहा गया है। भगत ने कहा कि भाजपा अपने सभी कार्यकर्त्ताओं को जनसेवा, पार्टी की विचारधारा, कार्यपद्धति आदि को लेकर प्रशिक्षित करती है। सतत कार्य करने के बाद कार्यकर्त्ता जनता की सेवा के लिए संगठन और विभिन्न पदों पर जाते हैं। 

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री दून में और भगत हरिद्वार में करेंगे प्रशिक्षण वर्ग का उद्घाटन

उन्होंने कहा कि 28 अक्टूबर को भाजपा के प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत होगी। इस कार्यक्रम को देहरादून में मुख्यमंत्री तथा हरिद्वार में वह स्वयं प्रारंभ करेंगे। एक महिला के यौन उत्पीड़न का आरोप झेल रहे विधायक महेश नेगी के प्रकरण पर उन्होंने कहा कि जांच के बाद जो भी फैसला आएगा, संगठन तुरंत उस पर कार्रवाई करेगा। अगर विधायक दोषी पाए जाते हैं, तो पार्टी तत्काल कारवाई करेगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड कांग्रेस में फिर गुटबाजी सामने आई, इस बार हरक सिंह को लेकर गर्माया मामला

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021