देहरादून, राज्य ब्यूरो। लगता है भाजपा सरकार और संगठन का अपने विधायकों पर कोई नियंत्रण नहीं रह गया है। पार्टी विधायकों के एक के बाद एक सामने आ रहे विवादित बोल इसकी तस्दीक करते हैं। रायपुर क्षेत्र से विधायक उमेश शर्मा काऊ के सोशल मीडिया पर वायरल हुए ऑडियो के प्रकरण की आंच अभी मंद भी नहीं पड़ी थी कि अब रुद्रपुर से विधायक राजकुमार ठुकराल का विवादित वीडियो वायरल हुआ है। इस मामले में पार्टी ने विधायक ठुकराल को नोटिस जारी कर उनसे सात दिन में स्पष्टीकरण मांगा है। साथ ही विधायक के बयान से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि इससे भाजपा का कोई संबंध नही है।

अपने ही विधायकों के विवादित बोल भाजपा की मुश्किलें बढ़ा रहे हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन और झबरेड़ा विधायक देशराज कर्णवाल के मध्य छिड़ी जुबानी जंग ने मर्यादा की सीमा लांघ दी थी। विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन को पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखाने पर इस प्रकरण का पटाक्षेप हुआ। हाल में पंचायत चुनाव के दौरान पार्टी के समर्थित प्रत्याशी के खिलाफ रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ का ऑडियो वायरल हुआ। 

इसी बीच ज्वालापुर विधायक सुरेश राठौर का भी विवादित वीडियो सोशल मीडिया में उछला। राठौर के स्पष्टीकरण के बाद उन्हें तो राहत मिल गई थी। जबकि विधायक काऊ के ऑडियो मामले में पार्टी का निर्णय लंबित है। अब रुद्रपुर के विधायक राजकुमार ठुकराल के सोशल मीडिया पर वायरल विवादित वीडियो ने पार्टी की पेशानी पर बल डाल दिए हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के अनुसार विधायक ठुकराल द्वारा वीडियो में जो कहा गया, वे विधायक के अपने विचार हो सकते हैं, भाजपा का इनसे कोई संबंध नहीं है।

यह भी पढ़ें: ऑडियो प्रकरण में घिरे भाजपा विधायक काऊ ने सौंपा नोटिस का जवाब

भाजपा जाति, सम्प्रदाय, क्षेत्र व भाषा किसी भी आधार पर किसी से कोई भेद नहीं रखती। भाजपा प्रधानमंत्री के मंत्र 'सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास' में विश्वास रखती है। पार्टी सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय के सिद्धांत को मानती है। प्रदेश अध्यक्ष भट्ट ने कहा कि वीडियो प्रकरण को पार्टी ने गंभीरता से लेते हुए विधायक ठुकराल को नोटिस भेजा जा रहा है। विधायक को एक सप्ताह में स्पष्टीकरण देने को कहा गया है। इसके आधार पर पार्टी आगे की कार्यवाही करेगी। यदि वह स्पष्टीकरण नहीं देते हैं तो पार्टी एकतरफा अनुशासनात्मक कार्रवाई को बाध्य होगी।

यह भी पढ़ें: एनएचएम की रिपोर्ट ने विपक्ष को थमाया मुद्दा, सरकार पर बोला हमला

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप