देहरादून, राज्य ब्यूरो। उत्तराखंड में 11 अप्रैल को होने वाले लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया प्रारंभ हो गर्इ है, मगर अभी तक भाजपा ने यहां की पांचों सीटों के लिए पत्ते नहीं खोले हैं। हालांकि, प्रांतीय नेतृत्व की ओर से सभी सीटों के पैनल केंद्रीय नेतृत्व को सौंपे जा चुके हैं, लेकिन अभी उम्मीदवारों के नाम का एलान केंद्रीय नेतृत्व ने नहीं किया है। इससे जहां संभावित प्रत्याशियों की धुकधुकी बढ़ रही है, वहीं चुनाव प्रचार के लिए समय कम होने की वजह से भी चिंता भी सताने लगी है। माना जा रहा कि इस सबके मद्देनजर पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व सोमवार दोपहर तक प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर देगा। 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट की अगुआई में दिल्ली पहुंचे भाजपाई दिग्गजों की ओर से यहां की पांचों सीटों के पैनल बीते रोज केंद्रीय नेतृत्व को सौंप दिए गए थे। इसके बाद भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में पैनल में शामिल नामों पर चर्चा हो चुकी है। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही थी कि पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व रविवार को प्रत्याशियों की घोषणा कर देगा। इसके मद्देनजर सभी की नजरें दिल्ली पर टिकी हुई थीं, लेकिन निराशा ही हाथ लगी। 
वहीं, प्रदेश भाजपा चाहती है कि विषम भूगोल और चुनाव प्रचार के लिए कम वक्त को देखते हुए प्रत्याशियों का एलान जल्द हो जाए। हालांकि, इस बीच पार्टी ने लोकसभा चुनाव को लेकर कार्य शुरू कर दिया है। इस कड़ी में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने रविवार शाम को प्रदेश कार्यालय में लोकसभा चुनाव संचालन टोली की बैठक ली और आवश्यक निर्देश दिए। 
उन्होंने लोस चुनाव के मद्देनजर विभिन्न समितियों की ओर से अब तक किए गए कार्यों की समीक्षा की। साथ ही आगामी कार्यक्रमों और इनकी रूपरेखा पर विस्तार से चर्चा की। बैठक में भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष ज्योति गैरोला, महापौर सुनील उनियाल गामा, प्रदेश मीडिया प्रमुख डॉ.देवेंद्र भसीन, प्रदेश कार्यालय सचिव पुष्कर काला, सह प्रमुख कुलदीप कुमार, अजेंद्र अजय, राजेंद्र ढिल्लों, बलजीत सोनी, राजीव तलवार, अनिल गोयल, आदित्य कोठरी, अभिमन्यु कुमार, आरएस राघव, डॉ. आदित्य कुमार, पुनीत मित्तल आदि मौजूद थे। 
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट का कहना है कि हम भी चाहते हैं कि प्रत्याशियों के नाम की घोषणा जल्द हो जाए, क्योंकि यहां चुनाव प्रथम चरण में हो रहा है और इस लिहाज से वक्त काफी कम है। उम्मीद है कि सोमवार दिन तक केंद्रीय नेतृत्व यहां की पांचों सीटों के उम्मीदवारों के नाम घोषित कर देगा।