जागरण संवाददाता, नई टिहरी। भागीरथीपुरम स्थित एसबीआइ की ब्रांच में कार्यरत कैशियर विनयपाल सिंह नेगी को 81 लाख 68 हजार रुपये के गबन के आरोप में पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया है। आरोपित ग्राहकों के खातों से रुपये निकालकर शेयर मार्केट में लगाता था। आरोपित ऐसे खाताधारकों के खाते से रुपये निकालता था, जो हस्ताक्षर की जगह अंगूठे का निशान लगाते थे।

कैशियर ने अपने परिचितों को भी दिया धोखा

एसएसपी नवनीत सिंह भुल्लर ने पत्रकार वार्ता में बताया कि भागीरथीपुरम एसबीआइ ब्रांच में कार्यरत कैशियर विनयपाल सिंह नेगी ने अपने परिचितों को भी धोखा दिया और ऐसी महिलाओं के खाते से पैसे निकाले जो अंगूठे का निशान लगाती थी। खुद विनयपाल उनके वाउचर भरता था और अपने अंगूठे के निशान लगाकर रुपये निकालता रहा। इस गड़बड़ी का पता तब चला जब कुछ महिलाएं बैंक पहुंची और उनके खाते में रुपये नहीं मिले। कैशियर के पास बैंक के चेस्ट की चाबी भी रहती थी और उसने वहां से भी 13 लाख रुपये निकाले।

अन्य कर्मचारियों की मिलीभगत का लगाया जा रहा पता

एसएसपी ने बताया कि इस मामले में बैंक के अन्य कर्मचारियों की मिलीभगत का पता भी लगाया जा रहा है। अन्य खाताधारकों के खातों की जांच भी बैंक की तरफ से की जा रही है। इस मामले में संभवत अन्य खाताधारकों के खातों से भी रुपया निकाला गया है। बैंक प्रबंधक ने कैशियर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है, जिसके बाद उसे भागीरथीपुरम क्षेत्र से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

चोरी में लिप्त फरार आरोपित दबोचा

कोटद्वार के रिखणीखाल थाना क्षेत्र के अंतर्गत देवियोंखाल बाजार में स्थित ज्वेलरी शाप से हुई चोरी के मामले में पुलिस ने फरार आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में तीन आरोपितों को पूर्व में ही गिरफ्तार किया जा चुका है। बताते चलें कि बीते दिसंबर माह में अज्ञात ने देवियोंखाल बाजार में स्थित अमित शाह की ज्वेलरी शाप से चांदी के पायल, गिलास, कटोरियों के साथ ही पुरानी चांदी भी चोरी कर दी थी। रिखणीखाल थाना पुलिस ने दी गई तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। 25 दिसंबर को पुलिस ने इस मामले में जिला पौड़ी के ग्राम ढिकोली निवासी सोनू रावत और दिल्ली के चांदनगर निवासी गोपाल उर्फ काले व साहिल को ढाबखाल से गिरफ्तार किया था।

आरोपितों के पास से चोरी किया गया सामान भी बरामद किया गया। रिखणीखाल थाना प्रभारी कमलेश शर्मा ने बताया कि मामले का मास्टरमाइंड पूर्वी दिल्ली के अंतर्गत ठीकर संख्या-16 गीता कालोनी निवासी रामसेवक उर्फ चूहा घटना के बाद से ही फरार चल रहा था। बताया कि 13 जनवरी की शाम आरोपित को पूर्व दिल्ली में श्मशान घाट रैन बसेरा, गीता कालोनी से गिरफ्तार कर लिया गया। उसके कब्जे से दो जोड़ी पाजेब बरामद हुई।

यह भी पढ़ें:- जशोधरपुर औद्योगिक आस्थाना में दो इकाइयों पर आयकर टीम छापेमारी, मौके पर मचा हड़कंप

Edited By: Sunil Negi