देहरादून, [जेएनएन]: पूर्व अंतरराष्ट्रीय फुटबालर बाइचुंग भूटिया ने कहा कि जब वह बोर्डिंग स्कूल में पढ़ते थे, तभी अपने दोस्तों व संगीत से दूर हो गए। क्योंकि, उन्हें फुटबाल अपनी ओर खींच रहा था। फिर उन्होंने पूरा ध्यान फुटबाल पर लगाया और नया मुकाम हासिल किया।

सेलाकुई इंटरनेशनल स्कूल के 17वें स्थापना दिवस के मौके पर बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे बाइचुंग भूटिया ने बच्चों से रूबरू होते हुए अपना अनुभव साझा किया। उन्होंने बच्चों से कहा कि वे खेल से प्यार करें और उस पर जोर दें। खेल के मैदान पर उन अनमोल पलों के लिए हम पूरा दिन बेसब्री से इंतजार करते हैं। 

उन्होंने स्कूलों प्रबंधन को खेल के बड़े अवसर देने और हर मौके का फायदा उठाने की सलाह दी। बताया कि उन्होंने अपनी दृढ़ता और संकल्प से अपने सपनों को पूरा किया। इस दौरान छात्रों ने भी बाइचुंग से खेल और उनके जीवन से संबंधित कई सवाल पूछे। जिनका भूटिया ने बड़ी ही सादगी के साथ जवाब दिया।

 इस मौके पर बाइचुंग ने देहरादून को फुटबॉल के लिए मुफीद बताते हुए कहा कि यहां के युवाओं में फुटबॉल के प्रति खासा क्रेज है। सही अवसर व उचित प्लेटफॉर्म मिलने पर दून के युवा भी फुटबॉल की दुनिया में पहचान हासिल कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि छात्र के लिए जरूरी है कि स्कूल के समय से ही उन्हें खेलों में बेहतर अवसर प्राप्त हों और हुनर को समय से पहचाना जा सके।

यह भी पढ़ें: पुरुष में यूएसनगर और महिला बॉक्सिंग में पिथौरागढ़ चैंपियन

यह भी पढ़ें: पिथौरागढ़ महाविद्यालय बना बास्केटबाल चैंपियन

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप