देहरादून, जेएनएन। कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय ने अपनी तैयारियों को विस्तार देना शुरू कर दिया है। अस्पताल में 50 बेड का एक और आइसोलेशन वार्ड तैयार किया जा रहा है। जिसमें जनरल के साथ प्राइवेट वार्ड भी सम्मिलित होंगे। हर बेड के बीच विभाजन की भी व्यवस्था की जा रही है।

दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय को राज्य सरकार कोरोना के इलाज के लिए आरक्षित कर चुकी है। कोरोना के ज्यादातर मरीज दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में ही भर्ती हैं। कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ कई संदिग्धों का उपचार भी यहीं किया जा रहा है। ऐसे में अब यहां व्यवस्थाओं को विस्तार दिया जा रहा है। जिसकी तैयारियों को लेकर गुरुवार को मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना ने पुरानी बिल्डिंग में विभिन्न कक्षों और वार्डो का निरीक्षण किया। इसके बाद हुई बैठक में तय किया गया कि अस्पताल की पुरानी बिल्डिंग के विभिन्न वार्डो को कोरोना आइसोलेशन वार्ड में तब्दील किया जाएगा।

प्राचार्य डॉ. सयाना ने बताया कि कोरोना को देखते हुए व्यापक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं। उन्होंने एक बार फिर आमजन से अपील की है कि घर से बहुत जरूरी होने पर ही बाहर निकलें। सामान्य बीमारी होने पर अस्पताल प्रशासन की ओर से जारी डॉक्टरों के मोबाइल नंबर पर संपर्क कर परामर्श और उसी मुताबिक दवा ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Lockdown Update: रोटी पर नहीं आने दिया जाएगा संकट, नहीं होगी आटे की कमी

इस दौरान डिप्टी एमएस एवं कोरोना के कोऑर्डिनेटर डॉ. एनएस खत्री, डिप्टी एमएस डॉ. मनोज शर्मा, श्वास और छाती रोग विभाग के विभागाध्यक्ष एवं कोरोना के नोडल अधिकारी वरिष्ठ पल्मनोलॉजिस्ट डॉ. अनुराग अग्रवाल, मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. नारायण जीत सिंह, डॉ. एमके पंत, वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी महेंद्र भंडारी, सहायक जनसंपर्क अधिकारी संदीप राणा, दिनेश रावत आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Lockdown Update: आवश्यक वस्तुओं की दुकानों का खुलने का समय बढ़ा

 

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस