देहरादून, जेएनएन। मायके से दहेज की रकम न मिलने पर विवाहिता ने पति व ससुराल पक्ष पर गर्भपात कराने का आरोप लगाया है। नेहरू कॉलोनी पुलिस ने पति व अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

सुष्मिता निवासी गुजरोवाली चौक ने पुलिस को दी तहरीर में आरोप लगाया कि 18 अक्टूबर 2018 को उसकी शादी अनिल बिजल्वाण से हुई। शादी में मायके पक्ष से पर्याप्त दहेज और सामान दिया गया। आरोप है कि कुछ महीने बाद ही कार खरीदने के लिए पांच लाख रुपये की मांग की जाने लगी।

जब कार के लिए रकम लाने से मना किया तो धमकी दी जाने लगी। यहां तक कहा गया कि उसकी जान भी ले लेंगे तो उन्हें कोई कुछ नहीं कर पाएगा। क्योंकि उनके परिवार का एक सदस्य पुलिस में है। इस दौरान वह गर्भवती हो गई। इसका पता चलने पर ससुराल पक्ष के लोगों ने उसे कोई दवा खिला दी, जिससे गर्भपात हो गया। 

सुष्मिता का आरोप है कि इसके बाद उसे कई बार जान से मारने की कोशिश भी गई। नेहरू कॉलोनी पुलिस ने पति अनिल बिजल्वाण, सास, जेठ व जेठानी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। 

तलाकशुदा पति पर जानलेवा हमले का आरोप

पटेलनगर कोतवाली क्षेत्र की एक महिला ने तलाकशुदा पति पर जानलेवा हमले का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। महिला का आरोप है कि उसका पति से नवंबर 2016 में इस्लामिक रीति से तलाक हो गया, लेकिन इसके बाद भी वह उसे परेशान करता रहा। 

इस बीच कोर्ट में तलाक की अर्जी लगा दी गई। इससे पति व उसके परिवार के लोग भड़क गए। बीते 22 अक्टूबर को पति व तीन-चार लोग उसके घर पहुंचे और ज्वलनशील पदार्थ छिड़क कर जलाने की कोशिश की। पड़ोसियों की मदद से किसी तरह उसकी जान बची। 

यह भी पढ़ें: मायके से तीन लाख रुपये न लाने पर विवाहिता को घर से निकाला Dehradun News

विवाहिता का यह भी आरोप है कि घटना के दिन ही पटेलनगर पुलिस को सूचना दी गई थी, लेकिन जब मामला दर्ज नहीं किया गया तो अदालत का दरवाजा खटखटाना पड़ा। पुलिस ने अदालत के आदेश पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें: मारपीट में घायल पति एम्स में भर्ती, पत्नी के खिलाफ मुकदमा Haridwar News

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस