जागरण संवाददाता, ऋषिकेश :

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश की आउटरीच सेल ने उन्नत भारत अभियान के तहत कोरोना महामारी को लेकर जन जागरूकता मुहिम शुरू की है। इसके लिए क्षेत्र के समीपवर्ती पांच गांवों को चयनित किया गया है। जिसमें, आउटरीच सेल के स्वास्थ्य कार्यकर्ता नागरिकों को कोरोना लक्षण व बचाव की जानकारी देंगे।

एम्स के निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने कहा कि विश्वव्यापी महामारी के इस विकट समय में कम्यूनिटी का सहयोग व सहभागिता वांछनीय है, तभी संपूर्ण समाज को इससे सुरक्षा प्रदान करने में सफलता मिल सकेगी। उन्होंने बताया कि एम्स संस्थान इस दिशा में अस्पताल से लेकर गांव-गांव व घर-घर तक सतत प्रयासरत है।

उन्होंने बताया कि एम्स ने कोरोना महामारी के मद्देनजर पांच गांवों रानीपोखरी, थानो, लालतप्पड़, गंगा भोगपुर व श्यामपुर को चिह्नित किया है। आउटरीच सेल के स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने नोडल ऑफिसर डॉ.संतोष कुमार की अगुवाई में सबसे पहले रानीपोखरी गांव से जन जागरूकता मुहिम की शुरुआत की। जिसके तहत क्षेत्र के नागरिकों को कोरोना के कारण, लक्षण, बचाव व उपचार संबंधी जानकारियां दी गई। साथ ही उन्हें मास्क व सैनिटाइजर भी वितरित किया गया।

इस मौके पर बीडीसी मेंबर विजय भट्ट, ग्राम प्रधान सरिता देवी, केएस रावत, देवेंद्र रतूड़ी, अनिल के अलावा एम्स आउटरीच सेल के डॉ. भीमदत्त सेमवाल, विकास, हिमांशु आदि मौजूद थे।

-------

एम्स के विशेषज्ञों से पूछें सवाल

एम्स आउटरीच सेल के नोडल आफिसर डॉ. संतोष कुमार ने बताया कि कोरोना जन जागरूकता अभियान के तहत शनिवार आठ अगस्त को आउटरीच सेल की ओर से दोपहर दो बजे से तीन बजे तक वेबिनार का आयोजन किया जाएगा। वेबीनार में शामिल होने वाले लोगों के सवालों का विशेषज्ञ जवाब देंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस