जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। जन एकता संयुक्त संघर्ष समिति कृष्णा नगर कालोनी ने महाप्रबंधक आइडीपीएल से मिलने गई मातृ शक्ति के साथ मारपीट की घटना की घोर निंदा की है। समिति ने चेताया कि आइडीपीएल प्रबंधन अपनी हरकतों से बाज आए वरना आंदोलनकारी कठोर कदम उठाने पर बाध्य होंगे। जन एकता संयुक्त संघर्ष समिति कृष्णा नगर की ओर से पिछले एक सप्ताह से गांधी स्तंभ त्रिवेणी घाट पर कृष्णा नगर, आइडीपीएल और खांड गांव को नगर निगम में शामिल किए जाने को लेकर धरना प्रदर्शन किया जा रहा है।

बीते गुरुवार को आवासीय कल्याण समिति के बैनर तले आंदोलनकारी आइडीपीएल महाप्रबंधक से मिलने गए थे। इस दौरान सुरक्षाकर्मियों की ओर से कुछ महिलाओं के साथ मारपीट की गई। गांधी स्तंभ पर आंदोलन कर रहे स्थानीय नागरिकों ने इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है। संघर्ष समिति के मुख्य संरक्षक डा. बीएन तिवारी ने कहां की टाउनशिप में रह रहे नागरिकों को प्रबंधन बेघर करना चाहता है।

उनकी सुनवाई करने की बजाय महिलाओं के साथ मारपीट करना प्रबंधन और सुरक्षाकर्मियों को शोभा नहीं देता है। उन्होंने कहा कि प्रबंधन यदि अपनी इन हरकतों से बाज नहीं आया और टाउनशिप वासियों को जबरन बेघर करने की कोशिश की गई तो इसके गंभीर परिणाम होंगे। धरने पर खुशहाल सिंह, महात्मा दिव्यानंद पुरी, कली देवी, मीना देवी, चंद्रशेखर गुप्ता, गुलाब वर्मा आदि शामिल हुए।

यह भी पढ़ें:- हाईवे पर ई-रिक्शा संचालन के खिलाफ आटो व विक्रम यूनियन ने खोला मोर्चा, एआरटीओ कार्यालय का किया घेराव

Edited By: Sunil Negi