जागरण संवाददाता, देहरादून: महाराजा अग्रसेन के जन्मोत्सव पर अग्रवाल समाज देहरादून की ओर से आयोजित श्रीमद्भागवत के दूसरे दिन कथा का महत्व बताया गया। महाराजा अग्रसेन के जीवन पर भी प्रकाश डाला गया। वहीं, अग्रवाल समाज ने कोरोनाकाल में अनाथ लड़कियों के विवाह का खर्चा उठाने की घोषणा की।

पटेलनगर स्थित राज पैलेस में सुबह कथा मंडप में व्यास पीठ पर विराजमान सभी देवी- देवताओं की पूजा अर्चना के बाद गंगाजल, दूध, घी आदि से लड्डू गोपाल और महाराज अग्रसेन की पूजा की गई।

दोपहर में कथावाचक सुभाष जोशी ने श्रीमद्भागवत कथा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इसे सुनने से पितरों को मोक्ष मिलता है। जो भी व्यक्ति इस युग में इस कथा का श्रवण कर चिंतन व मनन करता है, उसके जीवन की कार्यशैली में भी जल्द परिवर्तन आने लगता है। वहीं उन्होंने महाराजा अग्रसेन की जीवनी कथा सुनाते हुए कहा कि वह समाजवाद के सबसे बड़े नायक थे। प्रदेश की उन्नति व रचनात्मक सोच का भाव रखने से ही कथा सुनने का फल मिलता है। हमें अपनी कमाई का तकरीबन दशांश राज्य की उन्नति में लगाना चाहिए। इस दौरान मेरा आपकी कृपा से सबकाम हो रहा है..., बांके बिहारी की जय हो सका..., आदि भजनों पर भक्त झूमे।

यह भी पढ़ें-Smart City Project: डीएम राजेश कुमार ने दिए निर्देश, स्मार्ट सिटी के कार्यों से हो रही परेशानी करें दूर

 

अग्रवाल समाज के अध्यक्ष कमलेश अग्रवाल ने कहा कि कथा कोरोना योद्धाओं को समर्पित है। कोरोनाकाल में जो भी बालिकाएं अनाथ हो गई थी, वह पंजीकरण करा सकती हैं। उनके विवाह का सभी खर्चा अग्रवाल समाज उठाएगा। रविवार को रक्तदान शिविर लगाया जाएगा। इस मौके पर अग्रवाल समाज के महामंत्री फतेह चंद गर्ग, कमलेश अग्रवाल, सुनील अग्रवाल, अजय गोयल, संजय गर्ग, सतीश कंसल आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- युवा कांग्रेस ने किया प्रदर्शन, कहा- लोक कलाकारों को बढ़े मानदेय के साथ मिले सम्मान

Edited By: Sumit Kumar