देहरादून, जेएनएन। लॉकडाउन 3.0 में विभिन्न राज्यों में फंसे उत्तराखंड के लोगों को वापस आने व यहां फंसे दूसरे लोगों के बाहर जाने की व्यवस्था की गई है। इसके लिए ई-पास जारी किए जा रहे हैं। दूसरे राज्यों में फंसे देहरादून के निवासी भी अपने घर लौटने के लिए आवेदन कर रहे हैं। सोमवार को भी 3149 ई-पास जारी किए गए। हालांकि, 661 ई-पास प्रशासन को निरस्त भी करने पड़ गए।

जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि जो ई-पास निरस्त किए गए हैं, उनमें एक आवेदन में तीन से अधिक लोगों के आने का जिक्र किया गया था। लॉकडाउन में एक कार में चालक समेत तीन ही लोग यात्रा कर सकते हैं। लिहाजा, जो भी व्यक्ति ई-पास के लिए आवेदन कर रहे हैं, उन्हें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि एक वाहन में तीन से अधिक लोग सफर न करें। हालांकि, जो आवेदन दुरुस्त हैं, उन्हें तत्काल पास कर दिया जा रहा है। सोमवार को 3810 आवेदनों में से 3149 के पास जारी कर दिए गए।

होम क्वारंटाइन पर ग्राम प्रधानों से डीएम ने की बात

जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण कर होम क्वारंटाइन किए गए लोगों की स्थिति का परीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने संस्थागत क्वारंटाइन व आइसोलेशन सेंटरों का निरीक्षण भी किया। जिलाधिकारी ने कार्मिकों को निर्देश दिए गए ट्रैकिंग एप के जरिये क्वारंटाइन किए गए लोगों पर कड़ी नजर रखी जाए। वहीं, प्रवासियों की दून वापसी पर होम क्वारंटाइन के पुख्ता पालन को लेकर जिलाधिकारी ने विभिन्न ग्राम प्रधानों से बात की। बाहर से आए 23 सौ लोगों की निगरानी शुरू: दून में अब तक दूसरे राज्यों से 28 सौ से अधिक लोगों की आमद हो चुकी है। इसके साथ ही जिला प्रशासन ने 2388 लोगों को अब तक निगरानी में भी रख दिया है। जिलाधिकारी के निर्देश के क्रम में बाहर से आने वाले हर व्यक्ति को दो सप्ताह तक निगरानी कर उनके स्वास्थ्य पर निगाह रखी जाएगी। यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी लोग होम क्वारंटाइन का पूरा पालन करें।

यह भी पढ़ें: Lockdown 3.0: अब रात दो से सुबह नौ बजे तक खुलेगी मंडी, जानिए एक पास पर कितने दिन एंट्री

वाट्सएप पर करें आवेदन एसडीएम भेजेंगे पास

लॉकडाउन में फंसे लोगों की घर वापसी की राह आसान करने के लिए अब देहरादून जिला प्रशासन ने ई-पास के साथ ही ऑफलाइन पास जारी करने का इंतजाम भी कर दिया है। जो भी लोग दून से बाहर जाना चाहते हैं, वह संबंधित उपजिलाधिकारी (एसडीएम) के माध्यम से पास जारी करा सकते हैं। इसके लिए आवेदन के रूप में एक प्रपत्र भी तैयार किया गया है। अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) रामजी शरण शर्मा ने बताया कि उपजिलाधिकारी कार्यालय तक पहुंचने में कोई परेशानी है तो संबंधित व्यक्ति उन्हें वाट्सएप के माध्यम से आवेदन भेज सकते हैं। जिस भी उपजिलाधिकारी के पास ऐसे आवेदन आएंगे, वह पास जारी कर संबंधित व्यक्ति को वाट्सएप पर ही भेज देंगे।

यह भी पढ़ें: कांटेक्ट ट्रेसिंग की असल चुनौती अब आ रही सामने, पढ़िए पूरी खबर

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस