देहरादून, [जेएनएन]: गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय छात्र महासंघ (एपेक्स बॉडी) के चुनाव में अध्यक्ष पद पर अभाविप के गौतम और महासचिव पद पर एनएसयूआइ की अंजली चमोली ने जीत हासिल की। महासंघ का चुनाव सोमवार को बिड़ला परिसर श्रीनगर में संपन्न हुआ। महासंघ का उपाध्यक्ष पद भी भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआइ) के ही खाते में गया। जबकि सचिव और कोषाध्यक्ष पद पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) विजयी रही। 

उत्तरकाशी महाविद्यालय के गौतम रावत ने 28 वोट पाकर विवि छात्र महासंघ का अध्यक्ष पद कब्जाया। जबकि डीएवी महाविद्यालय देहरादून की अंजली चमोली 26 वोट लेकर विवि छात्र महासंघ की महासचिव चुनी गई। उपाध्यक्ष पद पर गोपेश्वर के विपिन फर्स्‍वाण निर्विरोध निर्वाचित हुए। सचिव पद पर बेदीखाल महाविद्यालय के शुभम सिंह रावत ने बाजी मारी। डीबीएस महाविद्यालय के रोहन जोशी ने विवि छात्र महासंघ का कोषाध्यक्ष पद कब्जाया। 

विवि छात्र महासंघ कार्यकारिणी के सभी पांच सदस्य निर्विरोध निर्वाचित हुए। चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद बिड़ला परिसर के एसीएल हाल में आयोजित एक विशेष कार्यक्रम में गढ़वाल विवि छात्रसंघ चुनाव के मुख्य चुनाव अधिकारी प्रो. एन. सिंह ने सभी निर्वाचित पदाधिकारियों को शपथ ग्रहण भी करवायी। गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय के श्रीनगर, पौड़ी, टिहरी परिसरों के साथ ही विवि से सम्बद्ध कुल 43 महाविद्यालयों के छात्रसंघ चुनाव में विजयी विश्वविद्यालय प्रतिनिधियों ने सोमवार को मतदान कर गढ़वाल विवि छात्र महासंघ के पदाधिकारी चुने।

सोमवार प्रात: दस बजे से 12 बजे तक नामांकन समय में कुल 43 विश्वविद्यालय प्रतिनिधियों ने मतदान के लिए अपना पंजीकरण कराया। नामांकन पत्रों की जांच के बाद अपराह्न ढाई बजे से चार बजे तक बिड़ला परिसर के एसीएल हॉल में मतदान हुआ। जिसके तुरंत बाद मतगणना शुरू हुई और मुख्य चुनाव अधिकारी प्रो. एन. सिंह द्वारा चुनाव परिणाम की घोषणा की। विजयी प्रत्याशियों और समर्थकों ने जमकर जश्न मनाया। गढ़वाल विश्वविद्यालय से संबंद्ध लगभग सभी महाविद्यालयों के छात्रसंघ में चुने गए दो-दो कालेजों के विश्वविद्यालय प्रतिनिधियों ने इस चुनाव में भाग लिया।

गढ़वाल विवि छात्र महासंघ के अध्यक्ष पद पर विजेता उत्तरकाशी के गौतम रावत को 28 और आदर्श भट्ट को 15 वोट मिले। उपाध्यक्ष पद पर गोपेश्वर के विपिन फस्र्वाण निर्विरोध चुने गए। महासचिव पद पर डीएवी देहरादून की अंजली चमोली को 26 वोट मिले। शुभमदीप गोस्वामी को 16 और दमनजीत सिंह भाटिया को एक भी वोट नहीं मिला। सचिव पद पर बेदीखाल कॉलेज के शुभम सिंह रावत को 24 और अंकिता बुटोला को 19 वोट मिले। दिनेश चौहान, कैलाश चंद्र पिपोली को एक भी वोट नहीं मिला। कोषाध्यक्ष पद पर डीबीएस कॉलेज देहरादून के रोहन जोशी को 28 और हिमानी को 15 वोट मिले। अमन प्रकाश, जसपाल, रमेश भंडारी, रोहन सिंह भंडारी, शिवानी कार्यकारिणी सदस्य चुने गए।

अंजलि चमोली एनएसयूआइ से निष्कासित

भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआइ) में गुटबाजी और आपसी कलह डीएवी छात्र संघ चुनाव के कुछ घंटे बाद खुलकर सामने आ गई है। रविवार को डीएवी कॉलेज से रिकॉर्ड 2184 मतों के अंतर से जीत दर्ज कर विवि प्रतिनिधि चुनी गई अंजलि चमोली को संगठन विरोधी गतिविधियों के आरोप में छह साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है। सोमवार को ही अंजलि गढ़वाल विवि महासंघ चुनाव में महासचिव के पद पर निर्वाचित हुईं। 

एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी ने सोमवार को जारी बयान में बताया कि अंजलि चमोली के अलावा संगठन के विरोध में मतदान करने और विरोधी संगठनों को सहयोग करने के मामले में चार अन्य विवि प्रतिनिधि चुने गए पदाधिकारियों को भी संगठन की प्राथमिक सदस्यता से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है। इनमें विश्वविद्यालय प्रतिनिधि नरेंद्रनगर दिनेश चौहान, राजकीय महाविद्यालय पौखाल की विवि प्रतिनिधि शबनम राणा, राजकीय डिग्री कॉलेज सतपुली और अगस्त्यमुनि के विवि प्रतिनिधि भी शामिल हैं। कहा कि छात्र संघ चुनावों संगठन विरोधी गतिविधियों में संलिप्त कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है। इसी क्रम में संगठन ने यह कार्रवाई की गई है। 

हाईकमान से शिकायत

एनएसयूआइ के प्रदेश अध्यक्ष ने छह पदाधिकारियों की चुनाव में गैर संवैधानिक गतिविधियों की शिकायत हाईकमान से की है। जिनमें एनएसयूआइ के प्रदेश महासचिव विकास नेगी, जिला अध्यक्ष रुद्रप्रयाग मनीष चौहान, जिला अध्यक्ष टिहरी विपिन रावत, यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष पौड़ी अमित राज, यूथ कांग्रेस नेता विनीत भट्ट व रितेश क्षेत्री शामिल हैं।

विपिन फर्सवाण को माना अपना 

हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय गढ़वाल विश्वविद्यालय के छात्र महासंघ के चुनाव में एनएसयूआइ के उपाध्यक्ष पद पर विपिन फर्सवाण के रूप में विजय प्राप्त करने वाले नेता को एनएसयूआइ प्रदेश अध्यक्ष ने अपने पाले का नेता माना है। उनकी जीत पर बधाई दी है।

यह भी पढ़ें: मुस्कराइए, आपको मिला युवाशक्ति का साथ

यह भी पढ़ें: छात्रसंघ चुनाव: एनएसयूआइ की लड़ाई में कांग्रेस हुई पराजित

Posted By: Sunil Negi