ऋषिकेश, जेएनएन। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में कोरोना वायरस के संदेह में एक व्यक्ति को भर्ती कराया गया है। ये शख्स पिछले महीने चीन से भारत आया था। पिछले कुछ दिनों से उसे बुखार और गले में दर्द की समस्या है। 

टिहरी गढ़वाल निवासी 38 वर्षीय यह व्यक्ति शंघाई चीन के एक होटल में सैफ का काम करता है। दस सालों से वह वहां काम करता है। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी डॉ. हरीश थपलियाल के मुताबिक पांच जनवरी को यह व्यक्ति चीन से भारत आया था। पिछले दो दिनों से उसे बुखार और गले में दर्द की समस्या है। एहतियात के तौर पर उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। 

इस व्यक्ति ने चिकित्सकों को बताया कि चीन में वह इस तरह के किसी व्यक्ति के संपर्क में नहीं रहा, जिसे कोरोना वायरस संक्रमण हुआ हो। इस व्यक्ति का खून का नमूना सोमवार को ऑल इंडिया वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट पुणे में जांच के लिए भेजा जाएगा। जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि एम्स ऋषिकेश में अब तक कोरोना वायरस के संदेह में कुल सात लोग आ चुके हैं, जिनमें दो लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई थी। शेष लोगों की रिपोर्ट अभी नहीं मिली है। 

कोरोना वायरस को लेकर गंभीर नहीं स्वास्थ्य विभाग 

हरिद्वार में कोरोना वायरस की आशंका को देखते हुए रेलवे स्टेशन पर लगाए स्क्रीनिंग डेस्क को ट्रेन शुरू होने के एक दिन बाद ही हटा दिया, जबकि अब रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों का आवागमन शुरू हो गया है। लिहाजा अब स्क्रीनिंग डेस्क की अधिक आवश्यकता है। 

यह भी पढ़ें: Corona Virus: कोरोना की आशंका में नौसेना अधिकारी समेंत दो के सैंपल जांच को भेजे

जहां एक ओर कोरोना वायरस के कारण पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं, हरिद्वार में स्वास्थ्य विभाग कोरोना वायरस को लेकर कतई गंभीर नहीं है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से अलर्ट के दावे किए जा रहे हैं, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है। कोरोना वायरस की आशंका को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने यात्रियों की स्क्रीनिंग के लिए रेलवे स्टेशन पर स्क्रीनिंग डेस्क लगाया था। रविवार को यह पूरी तरह गायब नजर आया। 

यह भी पढ़ें: Corona Virus: चीन के नियांक शहर में रोका गया ऋषिकेश का योग शिक्षक

वहीं, हरिद्वार के एसीएमओ डॉ. अजय कुमार ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर शहर में विभिन्न स्थानों पर स्क्रीनिंग डेस्क लगाए जाने हैं। इसके लिए रेलवे स्टेशन पर लगाया डेस्क हटा दिया है। अब फिर से जरूरत महसूस हुई तो दोबारा रेलवे स्टेशन पर स्क्रीनिंग डेस्क को लगाया जाएगा। 

यह भी पढ़ें: Coronavirus: उत्तराखंड में चीन से लौटे 200 लोगों की होगी निगरानी

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस