देहरादून, [जेएनएन]: प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 3.5 लाख रुपये के फ्लैट की आस पाले बैठे लोगों के लिए अच्छी खबर है। मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण (एमडीडीए) ने उन सभी लोगों को आवासीय योजना में आवेदन करने की छूट दे दी है, जिनका नगर निगम ने सर्वे तो किया है, लेकिन उनका अभी सत्यापन नहीं हो पाया है। ऐसे लोग सिर्फ क्रमांक नंबर के आधार पर भी सस्ते आवास के लिए आवेदन कर सकेंगे।

एमडीडीए के 464 सस्ते फ्लैट (ईडब्ल्यूएस) के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 10 सितंबर है। सचिव पीसी दुम्का के अनुसार, नगर निगम ने 687 ऐसे लोगों की सूची एमडीडीए को सौंपी थी, जिनका सर्वे के बाद सत्यापन भी कर दिया गया था। इससे वे लोग मायूस होने लगे थे, जिनका सर्वे तो कर लिया गया था, मगर सत्यापन नहीं हो पाया था। जबकि ऐसे लोगों की संख्या 7000 है। 

इन सभी को लाभ देने के लिए आवेदन की राह खोल दी गई है। ताकि वह आवेदन से वंचित न रह पाएं, हालांकि सत्यापन में किसी अभ्यर्थी के बाहर होने पर सस्ते आवास का लाभ नहीं दिया जाएगा। सचिव दुम्का ने बताया कि सितंबर माह के अंत तक लॉटरी के माध्यम से आवासों का आवंटन भी शुरू कर दिया जाएगा। 

लॉटरी में नाम न आने के बाद भी उम्मीद 

अभी ट्रांसपोर्ट नगर व आमवाला तरला की आलयम योजना के 464 आवासों के लिए लॉटरी कराई जा रही है। जिन लोगों का नाम लॉटरी में नहीं आ पाएगा, वह 240 आवास की धौलास व 868 आवास की उत्तरा आवासीय योजना में भी आवेदन कर सकते हैं। 

वापस मिलेंगे 35 हजार 

सस्ते आवास योजना में लोगों के बीच यह भ्रम फैल रहा है कि लॉटरी में नाम न आने के बाद 35 हजार रुपये की बुकिंग राशि वापस नहीं मिलेगी, जबकि ऐसा नहीं है। यह राशि आवेदक को वापस कर दी जाएगी। 

एलआइजी, एमआइजी व एचआइजी में भी 2.5 लाख की छूट 

एमडीडीए सचिव पीसी दुम्का ने बताया कि जिन लोगों की वार्षिक आय छह लाख रुपये तक है, वह एमडीडीए के एलआइजी फ्लैट के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसमें उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत क्रेडिट लिंक सब्सिडी के तहत 2.5 लाख की सब्सिडी प्राप्त होगी। इसी तरह 12 लाख तक आय में एमआइजी फ्लैट व 18 लाख रुपये तक आय में एचआइजी योजना में 2.5 लाख रुपये की सब्सिडी प्राप्त होगी। 

एमडीडीए के आवासों की स्थिति 

ट्रांसपोर्ट नगर ईडब्ल्यूएस, 224 

एलआइजी, 18 ही शेष 

एमआइजी, 144 

आमवाला तरला 

ईडब्ल्यूएस 240 

एलआइजी 80 

एमआइजी 112 

यह भी पढ़ें: अतिथि शिक्षकों के लिए खुशखबरी, 30 अंकों तक वेटेज देने पर विचार 

यह भी पढ़ें: लंदन और जर्मनी की तर्ज पर देहरादून और हरिद्वार में चलेगी पॉड टैक्सी