ऋषिकेश, जेएनएन। ऋषिकेश योगपीठ में आयोजित 138वें दीक्षांत समारोह में विभिन्न देशों के 30 योग प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्र प्रदान किए गए। तीस दिन के विशेष योग शिक्षक पाठ्यक्रम के बाद यह विदेशी साधक अब योग शिक्षक के रूप में अपने देशों में काम करेंगे। 

पटना गांव स्थित ऋषिकेश योग पीठ ने अपना 138वां दीक्षांत समारोह धूमधाम से मनाया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी धीरेंद्र सिंह पंवार, स्वामी अरुणगिरी महाराज और संस्थान के संस्थापक अध्यक्ष रोशन सिंह कुकरेती ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। 

दीक्षांत समारोह में विश्व के विभिन्न देशों से योग प्रशिक्षक कोर्स कर रहे 30 विद्यार्थियों को प्रमाणपत्र प्रदान किए गए। सीएम के विशेष कार्याधिकारी धीरेंद्र सिंह पंवार ने कहा कि ऋषिकेश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर योग नगरी के रूप में जाना जाता है। प्रदेश सरकार योग को लगातार नए आयाम देने का हर मुमकिन प्रयास कर रही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि योग को अपनाकर आज युवा न सिर्फ स्वस्थ हो रहा है बल्कि बेहतर रोजगार के विकल्प के रूप में भी इसको अपना रहे हैं।

यह भी पढ़ें: दून विश्वविद्यालय पर हिमालय संरक्षण की विराट जिम्मेदारी

यह भी पढ़ें: 37 कैडेट्स भारतीय सैन्य अकादमी की मुख्यधारा में हुए शामिल

यह भी पढ़ें: प्राचीन वास्तुकला से सीख लें आज के इंजीनियर: डॉ मुरली मनोहर जोशी

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस