जागरण संवाददाता, देहरादून। Smart City Project जिन निर्माण कार्यों में सड़कों को खोदा जा रहा है, वहां यातायात में व्यवधान पहुंचना स्वाभाविक है। मगर, निर्माण कार्य इस तरह किए जाएं कि जनता को कम से कम परेशानी हो और यातायात व्यवस्था पर भी ज्यादा असर न पड़े। ये निर्देश बैठक के दौरान जिलाधिकारी व स्मार्ट सिटी कंपनी के सीईओ डा. आर राजेश कुमार ने अधिकारियों दिए हैं।

दैनिक जागरण ने 23 सितंबर के अंक में गांधी रोड पर लंबे समय से अटके सीवर लाइन बिछाने के काम को लेकर प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी। जिलाधिकारी ने शुक्रवार को बैठक में इस कार्य की प्रगति भी जानी और निर्देश दिए कि गांधी रोड जैसे व्यस्ततम क्षेत्र में गतिरोध समाप्त कर काम की गति बढ़ाई जाए। इसके अलावा जिलाधिकारी ने कहा कि अब वर्षाकाल लगभग समाप्ति की तरफ है। लिहाजा, काम की गति बढ़ाई जाए और जिनमें प्रगति कम है, वहां भी फोकस किया जाए। जिन क्षेत्रों में यातायात दबाव अधिक रहता है, वहां रात के समय अधिक क्षमता के साथ काम किया जाए।

हर एक काम के लिए टाइमलाइन तय की जाए और उसे हर हाल में पूरा करने के प्रयास हों। जिलाधिकारी ने इस बात पर भी जोर दिया कि निर्माण कार्यों के दौरान अन्य एजेंसियों के साथ पूरा समन्वय बनाया जाए। जिससे किसी भी अड़चन को कम समय में दूर किया जा सके। यह निर्देश कारगी रोड पर बिना पेयजल लीकेज ठीक पर टाइल बिछाने के क्रम में भी जारी किए गए। इस मामले में लीकेज ठीक करने के लिए तीन दिन में ही टाइल को उखाड़ दिया गया है।

बैठक में स्मार्ट टायलेट, परेड ग्राउंड जीर्णोंद्धार, पलट बाजार में पथ विकास, पेयजल, जल निकासी, दून इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर आदि की प्रगति भी जानी गई। इस अवसर पर पेयजल निगम, ऊर्जा निगम, नगर निगम, लोनिवि, राजमार्ग, लोनिवि, यातायात पुलिस आदि के अधिकारी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें- पहली बार स्मार्ट सिटी कार्यों का निरीक्षण करने पहुंचे DM राजेश कुमार, कहा- हर साइट पर रखा जाए शिकायत रजिस्टर

Edited By: Raksha Panthri