जागरण संवाददाता ऋषिकेश। Ranipokhari Alternate Road ऋषिकेश देहरादून के बीच रानीपोखरी में जाखन नदी के ऊपर बना पुल बाढ़ में बह गया था। यहां यातायात सुचारू करने के लिए लोक निर्माण विभाग ने वैकल्पिक मार्ग का निर्माण किया था। मंगलवार सुबह जाखन नदी में आई बाढ़ से वैकल्पिक मार्ग का अधिसंख्य हिस्सा तथा निर्माण कार्य में लगा एक पानी का टैंक भी बह गया था। लोनिवि की टीम ने पूरे दिन काम करके मंगलवार शाम पांच बजे वैकल्पिक मार्ग को दुरुस्त करते हुए यहां यातायात खोल दिया।

ऋषिकेश देहरादून के बीच रानी पोखरी में बीती 27 अगस्त को 57 वर्ष पुराना पुल बाढ़ की भेंट चढ़ गया था। आवाजाही सुचारू करने के लिए बनाए गए 600 मीटर लंबे वैकल्पिक मार्ग में 300 मीटर मार्ग नदी क्षेत्र में बनाया गया था। रविवार को इस मार्ग पर यातायात सुचारू कर दिया गया था। सोमवार रात क्षेत्र में हुई मूसलधार बारिश के कारण जाखन नदी में बाढ़ आ गई और मंगलवार तड़के नदी में आए उफान में वैकल्पिक मार्ग का अधिसंख्य हिस्सा बह गया था। जिससे इस मार्ग पर वाहनों का संचालन ठप हो गया।

यह भी पढ़ें :-Video: मसूरी के पास कैम्पटी फाल में उफान, 200 पर्यटकों को सुरक्षित स्थान पर भेजा; आवाजाही पर रोक

सूचना मिलने पर मुख्य अभियंता देहरादून लोक निर्माण विभाग एनपी सिंह अन्य अभियंता निरीक्षण के लिए मौके पर पहुंचे। लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता हरिमोहन शर्मा ने बताया कि विभाग की टीम को इस काम में मजदूरों की संख्या बढ़ाने के साथ अतिरिक्त मशीन लगाने के निर्देश दिए गए थे। पूरे दिन वैकल्पिक मार्ग की मरम्मत का कार्य जारी रहा। शाम तक वैकल्पिक मार्ग को दुरुस्त कर इसके ऊपर से वाहनों का संचालन शुरू कर दिया गया।

उन्होंने बताया कि निर्माण कार्य के लिए पानी का टैंक मंगाया गया था जो बाढ़ में बह गया। उन्होंने बताया कि अभियंताओं की टीम को स्थिति पर नजर रख रही है। जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार तहसील दिवस में शामिल होने ऋषिकेश आए थे। उन्हें भी भानियावाला नेपाली फार्म होकर ऋषिकेश आना पड़ा। उन्होंने बताया कि वैकल्पिक मार्ग क्षतिग्रस्त होना प्राकृतिक घटना है, यह मार्ग सुचारू दिया गया है।

यह भी पढ़ें :- Landslide on Highway: टिहरी में ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे पर पहाड़ी से हुआ भूस्‍खलन, ऐसे बचे स्‍कूटी सवार; देखें वीडियो

रानीपोखरी वैकल्पिक मार्ग ही नहीं बल्कि देहरादून जाने वाले दो अन्य वैकल्पिक मार्ग भी नदी में आए पानी के कारण प्रभावित हुए। वाया घमंड पुर जौलीग्रांट जाने वाला रास्ता भी नदी में पानी आने के कारण बंद रहा। उधर, भोगपुर थानों वैकल्पिक मार्ग भी बिदालना नदी से होकर जाता है। यहां भी पानी आ गया था। अब सभी जगह पानी कम हो गया है। इन वैकल्पिक मार्गों का प्रयोग यातायात के लिए शुरू कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें-Video: जौलीग्रांट एयरपोर्ट और ऋषिकेश के बीच रानीपोखरी का पुल ध्वस्त, नदी में गिरे कई वाहन; जांच के आदेश

Edited By: Sunil Negi