राज्य ब्यूरो, देहरादून। Third Wave of Corona उत्तराखंड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश के सभी अस्पतालों में बच्चों के लिए अलग से आक्सीजन व आइसीयू बेड की व्यवस्था करने और वार्ड बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को 31 जुलाई तक यह व्यवस्था पूर्ण करने को कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए चिकित्सकों अथवा अपेक्षित धनराशि की जरूरत होगी तो उसकी व्यवस्था की जाएगी।

राज्य के सैन्य अस्पतालों में अतिरिक्त बेड की व्यवस्था और पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की उपलब्धता के लिए मुख्यमंत्री रक्षा मंत्री एवं गृह मंत्री से भी बात करेंगे। गुरुवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में शासन के उच्चाधिकारियों व जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिये कोरोना से बचाव के लिए की जा रही तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों में आक्सीजन, आक्सीजन बेड और आइसीयू बेड की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए जांच और टीकाकरण दोनों ही बेहद जरूरी है। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। पिछले कुछ समय में कोविड संक्रमण के मामलों में कमी आई है लेकिन पूरी सावधानी व सतर्कता बरतने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलाधिकारी जिलों के सभी अस्पतालों में की जाने वाली व्यवस्था का आकलन करें ताकि आवश्यकता पड़ने पर एक ही अस्पताल पर दबाव न पड़े। इसके साथ ही जन जागरूकता के लिए भी कदम उठाए जाएं। मुख्य सचिव एसएस संधू ने कहा कि सभी जिलाधिकारी तीसरी लहर की चुनौती का सामना करने के लिए पूरी तैयारी रखें। इससे प्रदेश के स्वास्थ्य ढांचे को भी बढ़ाने में सफलता मिलेगी।

सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी ने कोरोना से बचाव के संबंध में राज्य स्तर पर की गई व्यवस्था का प्रस्तुतीकरण दिया। बैठक में अपर मुख्य सचिव आनंद वर्द्धन, सचिव डा पंकज कुमार पांडेय व डा रणजीत सिन्हा के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Coronavirus Update: उत्तराखंड में फिर बढ़ने लगा कोरोना संक्रमण, 56 नए मामले; दो की मौत

Edited By: Raksha Panthri