देहरादून, जेएनएन। कमिश्नर रेलवे सुरक्षा और मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) मुरादाबाद की ओर से हादसे की आशंका जताए जाने के बाद दून रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म संख्या दो का यात्री शेड बदल दिया गया है। पहले जो शेड लगा था, विद्युत लाइन उसके काफी पास से गुजर रही थी। इससे शेड में करंट उतरने का खतरा था। ऐसे में नए शेड के डिजाइन में बदलाव किया गया है।

देहरादून रेलवे स्टेशन पर 10 नवंबर 2019 से सात फरवरी 2020 तक यार्ड रिमॉडलिंग का कार्य किया गया था। इस दौरान स्टेशन पर दो नए प्लेटफॉर्म बनाने के साथ अन्य निर्माण कार्य भी किए गए। इसके बाद बीती 17 मार्च को कमिश्नर रेलवे सुरक्षा शैलेश पाठक और डीआरएम मुरादाबाद तरुण प्रकाश ने स्टेशन का निरीक्षण किया। इस दौरान अधिकारियों ने पाया कि प्लेटफॉर्म संख्या दो पर विद्युत लाइन यात्री शेड के काफी करीब से जा रही है। इस पर उन्होंने बारिश के दौरान शेड में करंट उतरने की आशंका जताते हुए तत्काल शेड बदलने के निर्देश दिए थे। इसके अलावा भी निर्माण कार्यों में कई खामियां मिली थीं। उन्हें भी जल्द से जल्द दुरुस्त करने के लिए कहा गया था। हालांकि, तब लॉकडाउन लागू होने के कारण प्लेटफॉर्म पर कार्य शुरू नहीं हो पाया। अनलॉक शुरू होने के बाद यात्री शेड बदलने के साथ ही अन्य खामियों को ठीक करना प्रारंभ किया गया।

मंत्री से करेंगे अफसरों की मनमानी की शिकायत

उद्यान एवं कृषि विभाग के एकीकरण में विभागीय अधिकारियों की मनमानी के विरोध में कर्मचारी कृषि एवं उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल से मुलाकात करेंगे। गुरुवार को नंदा की चौकी स्थित कृषि भवन में उद्यान विभाग के सभी घटक कर्मचारी संगठनों की बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में उद्यान मिनिस्टीरियल स्टाफ एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष अरविंद बिजल्वाण, उत्तराखंड फील्ड तकनीकी कर्मचारी संघ के प्रांतीय महामंत्री हीराबल्लभ जोशी, उद्यान तकनीकी कर्मचारी संघ के प्रांतीय महामंत्री दीपक पुरोहित व अन्य सदस्य मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: देहरादून में प्रशासन की टीम ने होटल के अतिक्रमण को ढहाया Dehradun News

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस