देहरादून, जेएनएन। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय के महिला हेल्पलाइन में प्रताड़ित न किए जाने के वादे के साथ पति संग गई विवाहिता के घर पहुंचते ही फिर से बखेड़ा खड़ा हो गया। आरोप है कि विवाहिता के पति व अन्य ससुरालियों ने न सिर्फ उसे जमकर पीटा, बल्कि गला दबाकर जान से मारने की भी कोशिश की। मामले में शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि मो. शरीफ निवासी शकुंतला कॉलोनी ब्राह्मणवाला की पुत्री इरम का विवाह फरवरी 2017 में मो. फैजान पुत्र मो. तालिब से हुआ। आरोप है कि शादी के बाद ससुराल में उसे दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा। स्थिति गंभीर होने पर उसने अपने मायके वालों को यह बात बताई, जिसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी गई। मामले को काउंसलिंग के लिए महिला हेल्पलाइन के सुपुर्द कर दिया गया। हेल्पलाइन में काउंसलिंग के बाद तय हुआ कि बीते सोमवार को दोनों पक्ष लिखित समझौता पत्र तैयार करेंगे। फैजान हेल्पलाइन में आया, लेकिन दोबारा उत्पीड़न न करने का वादा कर इरम को विदा कराकर घर ले गया। तय हुआ कि एक महीने बाद दोनों फिर से हेल्पलाइन में आकर स्थिति स्पष्ट करेंगे। आरोप है कि जब बीते सोमवार को इरम ससुराल गई तो उसी रात उसके साथ मारपीट शुरू कर दी गई।

शरीफ का आरोप है कि उनकी बेटी इरम को जमकर पीटा गया और गला दबा कर जान से मारने की भी कोशिश की गई। मामले में पति फैजान, ससुर तालिब समेत ससुराल पक्ष के आठ लोगों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न और जान से मारने की कोशिश समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें: बच्चों के विवाद में कूदे बड़े, जमकर हुई मारपीट और पत्थरबाजी; दो घायल

यह भी पढें: भूमि विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष, एक की हालत गंभीर

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप