जागरण संवाददाता, देहरादून : सस्ते में बीस लाख डॉलर देने का झांसा देकर दो शातिर ठगों ने डीएवी डिग्री कॉलेज के कैंटीन संचालक से दो लाख रुपये ठग लिए। पुलिस को कार और ठगों की फुटेज मिल गई है, जिसके आधार पर दोनों की तलाश की जा रही है। वारदात में एक महिला के भी शामिल होने का शक है, लेकिन अभी उसके बारे में पुलिस को कोई खास जानकारी नहीं मिली है। मामले में वसंत विहार थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि दीवान बोरा पुत्र लक्ष्मण सिंह बोरा निवासी ग्राम खरेड़ा अल्मोड़ा डीएवी डिग्री कॉलेज में कैंटीन चलाते हैं। वह यहां बद्रीश कॉलोनी जोगीवाला में परिवार के साथ रहते हैं। दीवान बोरा का आरोप है कि बीते 14 जून को प्रिंस चौक पर उनसे दो युवक मिले। युवकों ने कहा कि उनकी मां के पास बीस लाख डॉलर हैं। लेकिन वह उन्हें डॉलर नहीं दे रही हैं लेकिन वह उसे अपनी मां से सस्ते में डॉलर दिलवा देंगे। इस बीच दीवान की मुलाकात युवकों की कथित मां से भी हुई। उसने भी यही बात दोहराई कि उसके बच्चे कोई काम धंधा नहीं करते। बच्चों को यह डॉलर दिए तो वह बर्बाद कर देंगे। ऐसे में वह चाहें तो उन्हें वह डॉलर सस्ते में दे सकती हैं। इस बीच दीवान की युवकों और उक्त महिला से बात होने लगी। बुधवार को दोनों युवकों ने उन्हें कांवली रोड पर बुलाया। युवक वहां कार से पहुंचे, जबकि दीवान अपनी स्कूटी से आए। स्कूटी सड़क किनारे खड़ी कर दीवान युवकों की कार में बैठ गए। युवकों ने एक बैग उन्हें दिया और कहा कि इसमें बीस लाख डॉलर हैं। इस पर दीवान ने दो लाख रुपये से भरा बैग उन्हें दे दिया। इसके बाद दीवान कार से उतर गए और दोनों युवक वहां से फरार हो गए। थोड़ी देर बाद दीवान ने बैग खोलकर देखा तो उसमें रद्दी कागज के बंडल रखे थे। तब उन्हें अहसास हुआ कि उनके साथ ठगी हो गई।

लूट की आई थी सूचना

दीवान को जब लगा कि उनके साथ घटना हो गई है तो उन्होंने तुरंत पुलिस कंट्रोल रूम को फोन मिलाकर कहा कि उनके साथ दो लाख रुपये की लूट हो गई है। इस पर एसपी सिटी श्वेता चौबे कोतवाली कैंट और वसंत विहार थाने की फोर्स के साथ मौके पर पहुंची। करीब एक घंटे की पूछताछ और सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद स्पष्ट हुआ कि यह लूट नहीं ठगी की वारदात है।

कई और थे ठगों के निशाने पर

युवक और उनके साथ की संदिग्ध महिला ने बीते एक सप्ताह के दौरान करीब आधा दर्जन लोगों को डॉलर का झांसा देकर ठगी करने की कोशिश की थी। लेकिन बाकी के लोग शातिरों की बातों पर सहसा यकीन नहीं कर पाए, मगर दीवान बोरा ने युवकों के साथ महिला की बात पर यकीन कर लिया।

-----

सीसीटीवी फुटेज से मिली जानकारी के आधार पर दोनों ठगों और महिला की तलाश की जा रही है। कुछ अहम लीड मिली है, जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

निवेदिता कुकरेती, एसएसपी, देहरादून

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran