पिथौरागढ़, [जेएनएन]: परिचित की नाबालिग बेटी को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने और दुराचार करने के मामले में न्यायालय ने एक युवक को दस वर्ष के सश्रम कारावास और दस हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई है।

अभियोजन पक्ष के मुताबिक हल्द्वानी निवासी दीपक अधिकारी 17 मार्च 2017 को डीडीहाट स्थित अपने परिचित के घर आया था। अगले दिन वह परिचित की नाबालिग बेटी को बहला-फुसलाकर भगा ले गया। लड़की के पिता ने इसकी रिपोर्ट पुलिस में दर्ज कराई। पुलिस ने तीन दिन बाद युवक को नाबालिग लड़की के साथ पकड़ लिया। लड़की ने युवक पर दुराचार करने का आरोप लगाया।

डीडीहाट पुलिस ने विवेचना कर मामला न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया।  जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेंद्र जोशी ने सभी पक्षों को सुनने के बाद गुरुवार को अपना निर्णय दिया। दीपक अधिकारी को पोक्सो अधिनियम के तहत 10 वर्ष के सश्रम कारावास और दस हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई गई। अर्थदंड अदा न करने पर उसे छह माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। 

यह भी पढ़ें: डॉक्टर ने अपने बच्चों की उम्र की युवती को शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म 

यह भी पढ़ें: रिश्ते के चाचा ने लूटी नाबालिग भतीजी की अस्मत, मुकदमा

यह भी पढेें: चार साल के मासूम से कुकर्म के आरोप में रिटायर्ड बैंक मैनेजर गिरफ्तार

By Raksha Panthari