जागरण संवाददाता, विकासनगर: स्थानीय लक्ष्मणपुर निवासी अवकाश प्राप्त ऑनरेरी लेफ्टिनेंट प्रकाश गुरुंग के पुत्र आशीष ने अपने दादा व पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए देश सेवा को चुना और लेफ्टिनेंट बने।

बता दें कि हाल ही में आशीष गुरुंग सुपुत्र अप्रा. ऑनरेरी लेफ्टिनेंट प्रकाश गुरुंग निवासी लक्ष्मणपुर विकासनगर भी भारतीय सैन्य अकादमी से पा¨सग आउट कर नव सैन्य अधिकारी नागा रेजिमेंट में लेफ्टिनेंट पद पर नियुक्त हुए। आशीष के परिवार का सेना से विशेष प्रेम रहा है। आशीष की माता मीनू गुरुंग गृहिणी हैं, जबकि बड़ा भाई आदित्य गुरुंग मल्टीनेशनल कंपनी गुड़गांव में कार्यरत है। आशीष गुरुंग की प्राइमरी स्कूली शिक्षा सेंट मेरीज डाकपत्थर, हाईस्कूल, इंटर की शिक्षा दिल्ली पब्लिक स्कूल व एयरफोर्स स्कूल आगरा से हुई है। आशीष के दादाजी पृथिमान गुरूंग भी भारतीय सेना में अपनी सेवा देकर ऑनरेरी कैप्टन पद से रिटायर हुए थे। इस प्रकार तीसरी पीढ़ी ने भी अपने दादा, पिता के नक्शे कदम पर चलते हुए देश सेवा और फौज को कॅरियर चुना। गोर्खाली सुधार सभा अध्यक्ष जोगेंद्र शाह ने कहा कि यह हमारे गोर्खा समुदाय के लिए बहुत गर्व की बात है। भारतीय सेना में गोर्खा फौज का गौरवशाली इतिहास रहा है। गोर्खा फौज ने देश की सेवा के लिए सीमाओं पर शत्रुओं से लड़ते हुए जीत दिलाने में सहयोग किया और वीरता के कई पदक अपने नाम किए हैं। गोर्खाली सुधार सभा कार्यकारिणी सदस्य शिवप्रशाद प्रधान, जय बहादुर, विपेंद्र थापा, कमान ¨सह, मन बहादुर पुन, हरिपुन ने कहा कि गोर्खाली समाज के आशीष ने क्षेत्र का मान बढ़ाया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस