जागरण संवाददाता, देहरादून :

हिमोत्सव यूनाइटिंग कल्चर की ओर से 15 दिसंबर से आयोजित होने वाले तीन दिवसीय हिमोत्सव-2017 में उत्तराखंडी, हिमाचली व नेपाली संस्कृति का अनूठा संगम देखने को मिलेगा। इसमें उत्तराखंड के प्रसिद्ध लोकगायक नरेंद्र सिंह नेगी समेत कईं लोकगायक अपनी आवाज से की छटा बिखरेंगे। वहीं, नेपाल से भी कलाकार हिस्सा लेंगे।

मंगलवार को प्रेस-क्लब में आयोजित पत्रकार-वार्ता में हिमोत्सव के निदेशक नितेंद्र सिंह बोहरा ने कहा कि 15 दिसंबर से परेड ग्राउंड में तीन दिवसीय हिमोत्सव-2017 का आयोजन किया जा रहा है। इसमें उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश व नेपाल के 20 लोकगायक व कलाकार हिस्सा लेंगे। सभी कलाकार प्रस्तुतियों के माध्यम से अपनी लोक संस्कृति का परिचय देंगे। इसके जरिए तीनों हिमालयी राज्यों की सांस्कृतिक समानता पर भी प्रकाश डाला जाएगा।

वहीं, पुराना दरबार ट्रस्ट की ओर से आयोजित दार्शनिक चित्र एव पेंटिंग प्रदर्शनी में गढ़वाल की पौराणिक परंपरा व महान विभूतियों के महान इतिहास को दर्शाया जाएगा।

ये लोकगायक लेंगे हिस्सा

गढ़वाली लोकगायिका मीना राणा, लोकगायक गजेंद्र सिंह राणा, अमित सागर, जौनसारी लोकगायक रेशमा शाह, धर्मेद्र परमार, मोहन सिंह चौहान, चंदर मोहन ठाकुर, हिमाचली लोकगायक करूण बंगानी, कुलदीप शर्मा, नेपाल से मीनू अले ग्रुप व लक्ष्य बैंड।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस